UP Gehu Kharid Online 2022 | गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण

UP Gehu Kharid 2022 गेहूं खरीदने के लिए किसान पंजीकरण उत्तर प्रदेश सरकार ने रबी सीजन की फसलों की खरीद शुरू कर दी है, किसानों को रबी सीजन गेहूं खरीदने के लिए पंजीकरण करना होगा। खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग उत्तर प्रदेश में किसानों से उनकी फसल खरीदता है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि किसानों को फसल का उचित मूल्य मिले।

UP Gehu Kharid 2022 खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग गेहूं की खरीद शुरू करेगा और गेहूं की खरीद मई से पहले की जाएगी। उत्तर प्रदेश सरकार ने गेहूं की ऑनलाइन खरीद के लिए पूरी व्यवस्था की है। कोरोना के कारण देशव्यापी लॉकडाउन को देखते हुए गेहूं खरीद केंद्रों पर भी विशेष व्यवस्था की गई है।

sarkariyojnaa join telegram

UP Gehu Kharid

इस पोस्ट में क्या है ?

उत्तर प्रदेश ई-प्रोक्योरमेंट सिस्टम 2022

उत्तर प्रदेश में राज्य सरकार अप्रैल से अपने राज्य में किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर UP Gehu Kharid 2022 गेहूं खरीदने का काम शुरू कर रही है उत्तर प्रदेश में गेहूं की खरीद UP Gehu Kharid मई तक होगी। राज्य में जो किसान अपनी फसल बेचना चाहते हैं वे सचिव खाद्य एवं रसद की इलेक्ट्रॉनिक क्रय प्रणाली की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर पंजीकरण कर सकते हैं। 2021 रबी सीजन की फसल अप्रैल से गेहूं खरीद के लिए ऑनलाइन पंजीकरण शुरू हो जाएगा। इस पोर्टल पर आप 15 अप्रैल से रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

3,99,935 किसानों से की गई गेहूं खरीद

उत्तर प्रदेश सरकार के कोरोना काल के चलते उत्तर प्रदेश में गेहूं की खरीद UP Gehu Kharid 2022 का सिलसिला जारी है अब तक 20.50 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद हो चुकी है। यह अधिग्रहण कुछ 399,935 किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर किया गया है। उत्तर प्रदेश में उत्तर प्रदेश सरकार ने इस अधिग्रहण को करने की जिम्मेदारी 11 एजेंसियों को सौंपी थी। इन 11 एजेंसियों में से 7 एजेंसियों ने क्रय केंद्र संचालित किए हैं। उत्तर प्रदेश सहकारी संघ ने लगभग 3,252 खरीद केंद्र संचालित किए हैं। जिसमें से करीब 9 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद हो चुकी है। सरकार अब तक उत्तर प्रदेश में 5,612 खरीद केंद्र स्थापित कर चुकी है।

इसके साथ ही राज्य कृषि उत्पाद बाजार परिषद ने 48 प्रखंडों में 110 गेहूं क्रय केंद्र स्थापित किए हैं. इन केंद्रों में न्यूनतम समर्थन मूल्य 1,975 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है। इसलिए 46,982 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद हो चुकी है। इस योजना के तहत 8,523 किसानों को गेहूं खरीद के लिए 92.78 करोड़ रुपये का भुगतान भी किया गया है।

UP Gehu Kharid 2022 यूपी गेहूं की खरीद कब से शुरू होगी

29 जनवरी 2022 को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गेहूं खरीद शुरू करने के निर्देश दिए थे. गेहूं की यह खरीद 1 अप्रैल 2022 से शुरू होगी। गेहूं खरीद के तहत किसानों को किसी भी खरीद केंद्र में किसी प्रकार की परेशानी नहीं होगी। गोदामों और क्रय केंद्रों में गेहूं की सुरक्षा के पूरे इंतजाम किए जाएंगे. इस साल गेहूं के न्यूनतम समर्थन मूल्य में 50 रुपए की बढ़ोतरी की गई थी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने 2022 गेहूं खरीद के संबंध में निर्धारित समय और प्रस्तावित खरीद नीति पर अधिकारियों के साथ बैठक की।

इस बैठक में मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि जल्द ही गन्ना किसानों जैसे गेहूँ किसानों को ऑनलाइन मतपत्र की सुविधा प्रदान की जाए और उन सभी क्रय एजेंसियों को जिनका रिकॉर्ड सही नहीं है उन्हें आदेश दिया गया. सभी क्रय केंद्रों और भंडारण गोदामों की जियो-टैगिंग की जाएगी। किसानों को लाभ के लिए।

UP Gehu Kharid 2022 गेहूं खरीद के मुख्य तथ्य

🔥 योजना का नाम UP Gehu Kharid (UP गेहूं खरीद)
🔥 किसके शुरू किया गया उत्तर प्रदेश सरकार
🔥 साल 2022
🔥विभाग कृषि विभाग
🔥 योजना के लाभार्थी UP राज्य के किसान भाई
🔥 आवेदन का प्रकार ऑनलाइन/ऑफलाइन
🔥ऑफिसियल वेबसाइट Click Here

 

गेहूं की खरीद में होगी पारदर्शिता की गारंटी

खाद्य एवं रसद के लिए वरिष्ठ सचिव वीना कुमारी ने भी प्रस्तावित क्रय नीति पर एक प्रस्तुति दी। इस प्रस्तुति में मुख्यमंत्री ने कई तरह के सुझाव दिए। उन्होंने कहा कि विभिन्न प्रकार के यंत्र जैसे नमी मीटर डबल मेश चलनी इलेक्ट्रॉनिक हुक आदि का उपयोग किया जा सकता है। उन्हें क्रय केंद्रों पर उपलब्ध होना चाहिए।  मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिए कि इस वर्ष ई-पॉप मशीनों के माध्यम से बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के माध्यम से गेहूं खरीदने की व्यवस्था की जाएगी. इस व्यवस्था से पारदर्शिता आएगी। इस साल भी बटाईदारों से गेहूं खरीदा जाएगा।

गेहूं की खरीद के लिए किसानों का पंजीकरण

उत्तर प्रदेश में जो किसान अपनी UP Gehu Kharid 2022 राज्य सरकार को बेचना चाहते हैं वे उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग के माध्यम से अपनी फसल खरीदते हैं राज्य सरकार ने खाद्य और रसद प्रतिक्रिया स्थिति विभाग के लिए एक ऑनलाइन पोर्टल भी लॉन्च किया है। ई-प्रोक्योरमेंट सिस्टम/ई-प्रोक्योरमेंट पोर्टल इस ऑनलाइन पोर्टल में किसी भी किसान को अपनी फसल बेचने से पहले पंजीकरण कराना होगा जिसके बाद किसान को टोकन जारी किया जाता है। फसल को बेचने के लिए सभी किसानों को गेहुं खरीद किसान पंजिकरण करना अनिवार्य है। पंजीकरण के बिना कोई भी किसान अपना गेहूं सरकारी गोदाम में नहीं बेच सकता है यहां हम आपको इस लेख में बताएंगे कि गेहूं खरीदने के लिए 2022 किसान पंजीकरण कैसे करें और इसकी प्रक्रिया क्या है।

UP Gehu Kharid 2022 उत्तर प्रदेश किसान योजना से गेहूं खरीदने का उद्देश्य

देशव्यापी तालाबंदी के कारण किसान अपनी फसल नहीं बेच पा रहे हैं। ऐसे में उन्हें भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। इसी समस्या को देखते हुए राज्य सरकार ने ऑनलाइन पोर्टल लॉन्च किया है। उत्तर प्रदेश में किसान अपनी गेहूं की फसल बेचने के लिए इस ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीकरण कर सकते हैं। इससे किसान की फसल समय पर बिक जाएगी और किसानों को समय पर पैसा मिल जाएगा जिससे किसान आसानी से जीविकोपार्जन कर सकें। फसल की बिक्री के बाद बिक्री की राशि सीधे लाभार्थियों के बैंक खाते में स्थानांतरित कर दी जाएगी।

UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण 2022 के दस्तावेज़

  • अपनी भूमि से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए खसरा-खतौनी खसरा नंबर और भूमि क्षेत्र और गेहूं क्षेत्र आदि देना आवश्यक है।
  • आधार कार्ड
  • आपके खेत के आय रिकॉर्ड से संबंधित जानकारी प्रदान की जानी चाहिए।
  • बैंक खाता बही
  • मोबाइल फोन नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

यूपी 2022 गेहूं खरीद किसान पंजीकरण महत्वपूर्ण बातें

  • गेहूं के खेत का डाटा रजिस्टर में देना जरूरी है।
  • खेत विवरण में खतौनी/खसरा गेहूँ क्षेत्र की संख्या भरना आवश्यक है।
  • आधार कार्ड बैंक बचत बही और आय रिकॉर्ड का सही विवरण दर्ज करना होगा।
  • रजिस्ट्रेशन के बाद रजिस्ट्रेशन नंबर और उसकी छाप लें।
  • मोबाइल फोन नंबर देकर ड्राफ्ट रजिस्ट्रेशन को दोबारा प्रिंट किया जा सकता है।
  • मोबाइल नंबर देकर पंजीकरण में संशोधन किया जा सकता है।
  • जब तक ऐप लॉक नहीं होगा पंजीकरण स्वीकार नहीं किया जाएगा।
  • पूर्ण पंजीकरण विवरण मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा।
  • 100 क्विंटल से अधिक गेहूं की बिक्री के लिए एसडीएम से सत्यापन कराया जाएगा.
  • गेहूं बेचने के बाद केंद्र प्रभारी से मान्यता पत्र लेना होगा।

यूपी गेहूं खरीद किसान पंजीकरण 2022 में ध्यान रखने योग्य कुछ महत्वपूर्ण आंकड़े

  • सभी चरणों का पालन करें :  किसान यूपी गेहूं ऑनलाइन खरीद पोर्टल में पंजीकरण करने के लिए पोर्टल पर उपलब्ध चरण 1 से 6 का पालन करना अनिवार्य है।
  • इस चरण में पंजीकरण प्रारूप उपलब्ध है :  पंजीकरण प्रारूप चरण 1 पर उपलब्ध है।
  • पंजीकरण प्रारूप डाउनलोड करें :  इस पंजीकरण प्रारूप को डाउनलोड करते समय आपको इसे प्रिंट करना होगा। जिसके बाद आपको इसमें सारी जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • सभी भूमि का विवरण प्रदान करें :  पंजीकरण के लिए उन सभी भूमि के विवरण से संबंधित विवरण दर्ज करना अनिवार्य है जिनका उपयोग खेती के लिए किया जाएगा।
  • सभी आय विवरण दर्ज करें :  इसके अलावा, खतौनी, खाता संख्या, प्लॉट / खसरा संख्या, भूमि क्षेत्र, खेती क्षेत्र भी भरना अनिवार्य है।
  • फॉर्म में यह जानकारी भी दर्ज करें :  इस फॉर्म में आपको आधार कार्ड बैंक बुक और आय रिकॉर्ड का विवरण भी दर्ज करना होगा।
  • ऑनलाइन आवेदन जमा करें : 1-2 चरणों को सफलतापूर्वक पूरा करने के बाद आप ऑनलाइन आवेदन जमा कर सकते हैं।
  • पंजीकरण संख्या लिखें : ऑनलाइन आवेदन करने के बाद आपको पंजीकरण संख्या अपने साथ लिखनी होगी।
  • ड्राफ्ट एप्लीकेशन फॉर्म को प्रिंट करें :  इसके बाद आपको स्टेप 3 से ड्राफ्ट रजिस्ट्रेशन फॉर्म से ड्राफ्ट एप्लीकेशन फॉर्म को प्रिंट करना होगा।
  • चरण 4 में संशोधन करें : यदि आपको किसी प्रकार के संशोधन की आवश्यकता है तो आप इस संशोधन को चरण 4 में कर सकते हैं।
  • लॉक रजिस्ट्रेशन : सभी सही जानकारी दर्ज करने के बाद आप चरण 5 में पंजीकरण को लॉक कर सकते हैं। पंजीकरण लॉक होने के बाद आपके आवेदन पत्र में कोई बदलाव नहीं किया जा सकता है।
  • अंतिम पंजीकरण प्रिंट : चरण 6 तक आप अंतिम पंजीकरण प्रिंट कर सकते हैं। जब तक किसान पंजीकरण को ब्लॉक नहीं करता है तब तक किसान का पंजीकरण स्वीकार नहीं किया जाएगा।
  • केंद्र प्रभारी से पावती पत्र प्राप्त करें : गेहूं बेचने के बाद आपको केंद्र प्रभारी से एक पावती पत्र प्राप्त करना होगा।
  • जानकारी दर्ज करते समय कृपया ध्यान दें : किसान को सभी प्रकार की जानकारी दर्ज करते समय विशेष ध्यान रखना चाहिए। आपको गलत जानकारी दर्ज नहीं करनी चाहिए।
  • इस स्थिति में न करें दोबारा रजिस्ट्रेशन : खरीफ वर्ष 2019-20 में चावल खरीदने के लिए जिन किसानों ने रजिस्ट्रेशन कराया है उन्हें गेहूं विक्रेता के लिए दोबारा रजिस्ट्रेशन कराने की जरूरत नहीं है. आप संशोधन के साथ या बिना आवेदन फॉर्म को फिर से लॉक कर सकते हैं।
  • गेहूं बेचते समय लाना होगा यह महत्वपूर्ण दस्तावेज : गेहूं बेचते समय किसान को अपना रजिस्ट्रेशन फॉर्म लाना होगा। इसके साथ ही किसान को कम्प्यूटरीकृत खतौनी फोटो पहचान पत्र बैंक बुक के पहले पेज की कॉपी और आधार कार्ड लाना भी जरूरी है।

गेहूं यूपी किसान पंजीकरण ऑनलाइन 2022 की खरीद कैसे करें?

राज्य के इच्छुक प्राप्तकर्ता जो इस ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीकरण करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए चरणों का पालन करें।

  • सबसे पहले आवेदक को खाद्य और रसद विभाग उत्तर प्रदेश ई-प्रोक्योरमेंट सिस्टम की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।

गेहूं खरीद

  • इस होम पेज पर आपको “गेहूं की खरीद के लिए किसान पंजीकरण का विकल्प दिखाई देगा आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन पर निम्न पृष्ठ खुल जाएगा इसके बाद इस पृष्ठ पर 6 चरण खुल जाएंगे जिन्हें आपको एक के बाद एक पूरा करना होगा।
  • सबसे पहले आपको रजिस्ट्रेशन फॉर्म पर क्लिक करना होगा क्लिक करने के बाद आपके सामने अगले पेज पर किसान रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जाएगा।

e-procurement online registration

 

  • जहां आपको अपना मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड भरना है। इसके बाद आपको कंटिन्यू बटन पर क्लिक करना होगा।

UP Gehu Kharid 2022

  • जिसके बाद किसानों के लिए ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म रबी फसल के लिए फॉर्म गेहूं खरीद खुल जाएगा। इस रजिस्ट्रेशन फॉर्म में आपको मांगी गई सभी जानकारी जैसे किसान का नाम, पता, मोबाइल नंबर, आधार कार्ड नंबर, पिता का नाम, पति का नाम, तहसील, जिला आदि भरनी होगी।
  • सारी जानकारी भरने के बाद आपको Register बटन पर क्लिक करना होगा।

सीएमआर का मूवमेंट चालान जनरेट करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको उत्तर प्रदेश सार्वजनिक वितरण प्रणाली उर्वरक और रसद विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
  • होम पेज पर आपको 2022 गेहूं खरीद प्रबंधन प्रणाली विकल्प पर क्लिक करना होगा।

गेहूं खरीद

 

  • उसके बाद आपको शाखा में शाखा का चयन करना होगा।
  • अब आपको यूजर टाइप में शॉपिंग सेंटर का चयन करना होगा।
  • इसके बाद आपको अपना यूजरनेम पासवर्ड और कैप्चा कोड डालना होगा।
  • अब आपको सेंड ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपको ट्रांसपोर्ट ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको Emit Challan CMR मूवमेंट के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
  • इस पृष्ठ पर आपको सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे प्रेषक का नाम मिलर का नाम, परेषिती, वाहक का नाम आदि दर्ज
  • करने की आवश्यकता है।
  • इसके बाद आपको सेव ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस ऑप्शन पर क्लिक करेंगे तो CMR मूव चालान जनरेट हो जाएगा।

इलेक्ट्रॉनिक प्रोक्योरमेंट मॉड्यूल में डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट को सेव करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको उत्तर प्रदेश सार्वजनिक वितरण प्रणाली उर्वरक और रसद विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
  • इसके बाद आपको गेहूं खरीद प्रबंधन प्रणाली 2022 विकल्प पर क्लिक करना होगा।

गेहूं खरीद

 

  • अब आपको लॉगिन शाखा अनुभाग में वितरण शाखा का चयन करना होगा।
  • अब आपको उपयोगकर्ता प्रकार के लिए वेयरहाउस उपयोगकर्ता का चयन करना चाहिए।
  • इसके बाद आपको अपने जिले का चयन करना होगा।
  • अब आपको अपना यूजरनेम, पासवर्ड और कैप्चा कोड डालना होगा।
  • इसके बाद आपको प्रिजर्व डिजिटल सिग्नेचर ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
  • इस पृष्ठ पर, आपको अधिकारी सूची, मोबाइल नंबर, अधिकारी का नाम, डीएससी वैधता प्रपत्र, डीएससी में अधिकारी का
  • नाम डीएससी वैधता के लिए दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको सर्टिफिकेट का चयन करना होगा।
  • अब आपकोसुरक्षित करें पर क्लिक करना है।
  • इस तरह आप डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट को सेव कर सकते हैं।

UP Gehu Kharid 2022 खरीदे हुए गेहूं का विवरण सुरक्षित करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको अपने मोबाइल फोन पर इलेक्ट्रॉनिक कॉन्ट्रैक्टिंग एप्लिकेशन को खोलना होगा।
  • अब आपको शॉपिंग सेंटर इंचार्ज का लॉगइन आईडी और पासवर्ड डालना होगा।
  • इसके बाद आपको लॉग इन ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको Find Farmer ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपको किसान की आईडी और खरीद की तारीख डालनी होगी।
  • अब आपको सेंड ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपके सामने किसान से जुड़ी सारी जानकारी खुल जाएगी।
  • अब आधार प्रमाणीकरण में किसी को स्वयं या नामित व्यक्ति को चुनना होगा।
  • अब आपको सेंड ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद किसान को बायोमेट्रिक स्कैन कराना होगा।
  • अब केंद्र प्रभारी को भी आपका बायोमेट्रिक डाटा स्कैन करना होगा।
  • आपको सेंड ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
  • इस पेज पर आपको मांगी गई सभी जरूरी जानकारियां दर्ज करनी होंगी।
  • अब आपको OK बटन पर क्लिक करना है।
  • इस तरह आप खरीदे गए गेहूं के विवरण को सहेज सकते हैं।
  • अब आपकी स्क्रीन पर खरीद संख्या और भुगतान की जाने वाली राशि प्रदर्शित होगी।
  • आप प्रिंट इनवॉइस पर क्लिक करके भी घंटी को प्रिंट कर सकते हैं।

ओटीपी सत्यापन प्रक्रिया

यदि किसान का बायोमेट्रिक सत्यापन 3 बार से अधिक विफल हो जाता है तो इस स्थिति में ओटीपी सत्यापन किया जाता है। ओटीपी सत्यापन करने की प्रक्रिया इस प्रकार है।

  • सबसे पहले आपको अपने मोबाइल फोन पर e-procurement एप्लिकेशन को खोलना होगा।
  • अब आपको शॉपिंग सेंटर प्रभारी का यूजर नेम और पासवर्ड डालकर लॉग इन ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको किसान सर्च ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपको किसान आईडी दर्ज करनी होगी और सबमिट विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको आधार ऑथेंटिकेशन के तहत माईसेल्फ या डेजिग्नेटेड पर्सन ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको सेंड टू इनसाइड को कॉन्फ़िगर करने की आवश्यकता है।
  • इसके बाद आपको बायोमेट्रिक स्कैन बटन पर क्लिक करना होगा।
  • स्कैन फेल होने की स्थिति में आपके सामने ओटीपी पेज खुल जाएगा।
  • अब आपको आधार से जुड़े मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा।
  • आपको इस ओटीपी को ओटीपी बॉक्स में दर्ज करना होगा।
  • अब आपको सेंड ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • तो आप ओटीपी के जरिए वेरीफाई कर सकते हैं।

Do’s and Don’ts प्रोक्योरमेंट मशीन

  • टर्मिनल खोलने के बाद आपको तब तक प्रतीक्षा करने की आवश्यकता है जब तक कि एलसीडी की अंतिम पंक्ति सिग्नल बार में 1E या 2E प्रदर्शित न करे।
  • हर दिन मशीन का उपयोग करने से पहले बैटरी को 4-5 घंटे तक चार्ज करने की आवश्यकता होती है।
  • एफपीएस का मालिक भले ही दैनिक आधार पर मशीन का उपयोग नहीं करेगा मशीन को दैनिक आधार पर चार्ज करना अनिवार्य है।
  • मशीन की बैटरी को पावर ऑफ मोड में भी चार्ज किया जा सकता है।
  • मिट्टी का तेल या अन्य सामग्री प्राप्त करते समय स्टॉक की जानकारी दर्ज करने के बाद लॉग आउट करना अनिवार्य है।
  • बायोमेट्रिक स्कैनिंग के लिए फिंगरप्रिंट स्कैनर पहले से ही अधिग्रहण मशीन में है। आपको इस स्कैनर का इस्तेमाल बहुत ही सावधानी से करना होगा।
  • बैटरी चार्ज करने के लिए पावर एडॉप्टर का उपयोग करना चाहिए।
  • छपाई के लिए आपको अच्छी गुणवत्ता वाले कागज का उपयोग करने की आवश्यकता है।
  • मशीन से एंटीना के थ्रेडिंग और अनस्क्रूइंग की ठीक से देखभाल करना आवश्यक है।
  • प्रिंट करने के लिए आपको पेपर रोल को आगे की दिशा में रखना होगा।
  • अगर आप पेपर रोल को उल्टा रख देंगे तो प्रिंट बाहर नहीं आ पाएगा।
  • पेपर रोल को प्रिंटर कैबिनेट में रखने के बाद आपको इसे ठीक से लॉक करना होगा।
  • जब मशीन उपयोग में न हो तो आपको उसे बंद रखना चाहिए।

Donts

  • मशीन का उपयोग करते समय पीओएस टर्मिनल का बैटरी कवर न खोलें।
  • टर्मिनल को धातु के कणों पानी या धूल के संपर्क में न आने दें।
  • मशीन केबल को न हिलाएं और न ही उस पर कुछ भी रखें।
  • गीले हाथों से प्लग को न छुएं।
  • बैटरी को बाहरी चार्जर से चार्ज करने का प्रयास न करें।
  • मशीन को साफ करने के लिए गीले या स्प्रे क्लीनर का प्रयोग न करें।
  • कृपया GL11 टर्मिनल का उपयोग करने से पहले LCD लेबल हटा दें।
  • एलसीडी टच स्क्रीन पर पेन पेंसिल या स्क्रूड्राइवर का प्रयोग न करें।
  • फिंगरप्रिंट स्कैनर को पेन पेंसिल या धातु से न छुएं। इसे किसी भी गंदे पदार्थ से साफ न करें।
  • सिम कार्ड न निकालें।
  • पीओएस टर्मिनल खोलने के बाद एंटीना को कनेक्ट न करें।
  • VISIONTEK GL-11 टर्मिनल से कोई भी स्टिकर न हटाएं।

ध्यान दें :- ऐसे ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई नई या पुरानी सरकारी योजनाओं की जानकारी हम सबसे पहले अपने इस वेबसाइट sarkariyojnaa.com के माध्यम से देते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें ।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद.

Posted by Amar Gupta

🔥🔥 Join Our Group For All Information And Update, Also Follow me For Latest Information🔥🔥

🔥 Follow US On Google News Click Here
🔥 Whatsapp Group Join Now Click Here
🔥 Facebook Page Click Here
🔥 Instagram Click Here
🔥 Telegram Channel Techgupta Click Here
🔥 Telegram Channel Sarkari Yojana Click Here
🔥 Twitter Click Here
🔥 Website  Click Here

FAQ – UP Gehu Kharid 2022 के अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

उत्तरप्रदेश गेहूं खरीद हेतु किसान पंजीकरण क्या है ?

गेहूं खरीद के लिए किसान रजिस्ट्री खाद्य उत्तर प्रदेश ई-क्रय प्रणाली/ ई-उपार्जन है जिसके माध्यम से किसान ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं और अपनी फसल को रियायती सरकारी कीमतों पर बेच सकते हैं।

क्या किसानों को UP Gehu Kharid 2022 ऑनलाइन पंजीकरण करने के लिए कोई शुल्क है?

नहीं किसानों को पंजीकृत करने के लिए कोई शुल्क नहीं है आप इसे मुफ्त में ऑनलाइन कर सकते हैं।

गेहूं खरीदने के लिए कौन पंजीकरण कर सकता है?

गेहूं खरीद पंजीकरण उत्तर प्रदेश के सभी किसान घर बैठे अपना गेहूं बेचने के लिए ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं।

खुद से पंजीकरण करना नहीं आता या नहीं कर पा रहे हैं तो क्या करें ?

यदि आपके पास कंप्यूटर या मोबाइल नहीं है आप पंजीकरण नहीं कर पा रहे हैं तो आप अपने पास के किसी भी सीएससी केंद्र या कंप्यूटर स्टोर पर जा सकते हैं और किसान को गेहूं की खरीद के लिए पंजीकरण करवा सकते हैं जिसके लिए ऑपरेटर आपसे एक शुल्क लेगा।

Leave a Comment