मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना | ऑनलाइन आवेदन, Tirth Yatra Yojana 2022

सरकार ने दिल्ली के वृद्ध लोगों के लिए एक नई मुख्यमंत्री दिल्ली मुफ्त तीर्थ यात्रा योजना (Tirth Yatra Yojana 2022) शुरू की है। वृद्ध लोगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार के पास पहले से ही कई योजनाएं थीं। भारत एक धार्मिक देश है और तीर्थ यात्रा भी बहुत महत्वपूर्ण है। दिल्ली के कुछ बुजुर्ग आर्थिक तंगी के कारण तीर्थ यात्रा नहीं कर पा रहे हैं। सरकार ने यह मुफ्त तीर्थ यात्रा योजना उन बुजुर्गों के लिए शुरू की है जो अपने दम पर तीर्थ यात्रा का खर्च नहीं उठा सकते। आज इस लेख में हम योजना से संबंधित पूरी जानकारी के बारे में जानेंगे। योजना के बारे में अधिक जानने के लिए कृपया एक नज़र डालें।

Tirth Yatra Yojana

sarkariyojnaa join telegram

इस पोस्ट में क्या है ?

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना – Tirth Yatra Yojana 2022

इस योजना के तहत, सरकार दिल्ली के उन नागरिकों को एक अवसर प्रदान करती है जो अपने स्वयं के खर्च किए गए धन से तीर्थ यात्रा करने में असमर्थ हैं। Tirth Yatra Yojana 2022 दिल्ली के लिए कोई ऑफ़लाइन पंजीकरण प्रक्रिया उपलब्ध नहीं है, आप अपना पंजीकरण दिल्ली के इलेक्ट्रॉनिक जिले के वेब पोर्टल पर ऑनलाइन मोड के माध्यम से कर सकते हैं। इस योजना के तहत यात्रा, भोजन, आवास आदि सभी खर्च सरकार वहन करेगी। इस योजना के तहत सभी सुविधाएं सरकार द्वारा नि:शुल्क प्रदान की जाएंगी।

योजना के तहत मई 2022 में तीन ट्रेनें रवाना की जाएंगी

दिल्ली तीर्थ यात्रा योजना के तहत 8 मई 2022 को रामेश्वरम के लिए एक ट्रेन रवाना होगी इस योजना के तहत मई 2022 में 3 तीर्थ स्थलों के लिए ट्रेनें रवाना की जाएंगी इस योजना के तहत अब तक 58 ट्रेनों को रवाना किया जा चुका है जिसमें 58 हजार बड़े वयस्कों ने यात्रा की है। इस महीने के अंत तक ट्रेनों की कुल संख्या 61 हो जाएगी। 8 मई 2022 को रामेश्वरम के बाद ट्रेन 18 मई को गुजरात के द्वारका और 28 मई को जगन्नाथपुरी के लिए सफदरजंग रेलवे स्टेशन से प्रस्थान करेगी। यह जानकारी दिल्ली सरकार की तीर्थ विकास समिति के अध्यक्ष कमल बंसल ने दी।

यह योजना 12 जुलाई 2019 को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा शुरू की गई थी। इस योजना के तहत पहली ट्रेन अमृतसर के लिए रवाना हुई थी। इस योजना के तहत अब तक सबसे ज्यादा ट्रेन रामेश्वरम भेजी गई है। तीर्थ यात्रियों में 68 प्रतिशत से अधिक महिलाएं हैं।

Highlights OF Tirth Yatra Yojana 2022

🔥 योजना का नाम 🔥  मुख्यमंत्री दिल्ली मुफ़्त तीर्थ यात्रा योजना (Tirth Yatra Yojana 2022)
🔥 घोषणा 🔥 दिल्ल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा
🔥 साल 🔥 2022
🔥 लांच तिथि 🔥 जनवरी, 2018
🔥 लक्ष्य 🔥 वरिष्ठ नागरिकों को तीर्थ यात्रा करवाना
🔥 यात्रा की शुरुवात 🔥 4 सितंबर 
🔥 ऑफिशियल वेबसाइट 🔥 यहां क्लिक करें

वृद्ध आश्रम में रहने वाले नागरिक को को भी जल्द भेजा जाएगा तीर्थ यात्रा पर

यह जानकारी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 12 अप्रैल 2022 को दी थी। उनकी सरकार Tirth Yatra Yojana  2022 के तहत दिल्ली में बुजुर्गों के आश्रमों में रहने वाले बुजुर्गों को भी तीर्थयात्रा पर भेजेगी। यह जानकारी मुख्यमंत्री ने पूर्वी दिल्ली में चौथे बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर वरिष्ठ नागरिक ग्रह आश्रम के उद्घाटन के अवसर पर दी इस योजना को 2020 और 2021 में कोरोना महामारी के कारण लागू नहीं किया गया था। लेकिन अब सरकार इसे फिर से शुरू करेगी।

नर्सिंग होम में रहने वाले नागरिकों को भी तीर्थयात्रा पर भेजा जाएगा। इस योजना के माध्यम से नागरिकों को द्वारका, हरिद्वार, ऋषिकेश, मथुरा, वृंदावन, अयोध्या, अजमेर शरीफ आदि तीर्थ स्थानों पर भेजा जाएगा। यह जानकारी भी मुख्यमंत्री ने दी, दिल्ली में वरिष्ठों के लिए केवल 4 आश्रम हैं और वरिष्ठों के लिए 5 वां आश्रम जल्द ही बनकर तैयार हो जाएगा।

अप्रैल 2022 में इस योजना के तहत 6 ट्रेनें निर्धारित की गई थीं

दिल्ली सरकार ने मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत अप्रैल 2022 के लिए 6 ट्रेनें निर्धारित की हैं। इन ट्रेनों को 14 से 29 अप्रैल तक रवाना किया जाएगा। इस योजना के तहत अब तक 52 ट्रेनें अलग अलग जगहों पर जा चुकी हैं. अप्रैल माह में 6 और ट्रेनें भेजी जाएंगी। ट्रेन 14 अप्रैल को सफदरजंग रेलवे स्टेशन से रामेश्वर के लिए प्रस्थान करेगी। जिसके बाद ट्रेन 17 अप्रैल को तीर्थस्थल द्वारकाधीश के लिए रवाना होगी। ट्रेन 20 अप्रैल को शिरडी के लिए रवाना होगी। ट्रेन 24 अप्रैल को फिर से रामेश्वरम के लिए रवाना होगी। ट्रेन 26 अप्रैल को द्वारकाधीश के लिए और 29 अप्रैल को तिरुपति बालाजी के तीर्थ स्थल के लिए रवाना होगी।

इस योजना से अब तक लगभग 52,000 नागरिक लाभान्वित हो चुके हैं। यह योजना जुलाई 2019 में शुरू की गई थी। मुख्यमंत्री द्वारा पहली ट्रेन दिल्ली से अमृतसर भेजी गई थी। इस योजना के तहत अब तक सबसे ज्यादा ट्रेनें रामेश्वरम भेजी गई हैं। इस योजना के तहत महिला यात्रियों की संख्या 68% से अधिक है।

यह योजना 14 फरवरी, 2022 से फिर से शुरू होगी

दिल्ली सरकार ने मुख्यमंत्री के तीर्थयात्रा कार्यक्रम को फिर से शुरू करने का फैसला किया है जिसके लिए पहली ट्रेन 14 फरवरी 2022 को गुजरात के द्वारकाधीश के लिए और दूसरी ट्रेन 18 फरवरी 2022 को रामेश्वरम के लिए रवाना होगी इस योजना के तहत दिल्ली के बुजुर्गों को तीर्थ यात्रा पर भेजा जाता है डेढ़ महीने बाद फिर से यह योजना शुरू होगी। बड़ी संख्या में दिल्ली के नागरिकों ने तीर्थयात्रा पर द्वारकाधीश और रामेश्वरम जाने का अनुरोध किया है।

इसके अलावा अधिकारियों ने यह भी जानकारी दी है कि इस योजना के क्रियान्वयन पर चर्चा हो रही है। जिसके बाद फिलहाल के लिए दो ट्रेनों का समय निर्धारित किया गया है। इसके अलावा इस योजना के तहत कुछ और ट्रेनें भी तीर्थयात्रा के लिए भेजी जाएंगी। जिसके माध्यम से दिल्ली के नागरिकों को तीर्थ स्थलों का भ्रमण कराया जाएगा।

दूसरी ट्रेन 10 दिसंबर को अयोध्या के लिए रवाना होगी।

जैसा कि सभी जानते हैं कि दिल्ली सरकार ने विभिन्न तीर्थ स्थलों की यात्रा के लिए दिल्ली के बुजुर्गों के लिए मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना शुरू की थी। इस योजना को कोरोना संक्रमण के कारण रोक दिया गया था। करीब 23 महीने बाद इस योजना को फिर से शुरू किया गया है। जिसके लिए दिसंबर 2021 से फरवरी 2022 तक का शेड्यूल बनाया जा रहा है इस योजना के तहत करीब 1000 तीर्थयात्रियों का पहला जत्था 3 दिसंबर 2021 को अयोध्या भेजा गया 10 दिसंबर को दूसरी ट्रेन भी खुद अयोध्या के लिए रवाना होगी जिसके लिए तीर्थयात्रियों की सूची तैयार की जा रही है।

तीर्थ यात्रियों को अन्य तीर्थ स्थलों पर भी भेजा जाएगा।

अगले 2 महीनों में दिल्ली के बुजुर्गों को विभिन्न तीर्थ स्थलों के दर्शन के लिए भेजा जाएगा। जिसमें रामेश्वरम, द्वारकाधीश, उज्जैन, जगन्नाथपुरी, तिरुपति बालाजी, शिरडी आदि शामिल हैं। इन सभी जगहों का शेड्यूल तैयार किया जा रहा है। इसके अलावा करतारपुर साहिब के लिए यात्री बस का पहला जत्था 5 जनवरी 2022 को और दिल्ली से वलंकन्नी की यात्रा के लिए पहली यात्री ट्रेन 7 जनवरी 2022 को निर्धारित की जाएगी। नागरिकों को जल्द ही कार्यक्रम से संबंधित जानकारी प्रदान की जाएगी। सभी तीर्थ स्थलों की।

विभिन्न स्रोतों से जानकारी सामने आई है कि राज्य मंत्री ने इस योजना के क्रियान्वयन को लेकर दिल्ली परिवहन एवं पर्यटन विकास निगम और भारतीय रेल पर्यटन एवं खानपान निगम के अधिकारियों के साथ बैठक की इस बैठक में ट्रेन के अगले शेड्यूल पर चर्चा की गई है जनवरी में करीब 7-8 ट्रेनें भेजी जा सकती हैं। फिलहाल फरवरी का शेड्यूल तैयार किया जा रहा है।

अयोध्या भेजे जाएंगे तीर्थ यात्री

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत यात्री को अयोध्या भेजा जाएगा। अब नागरिक मुफ्त में अयोध्या जा सकेंगे। यह जानकारी तीर्थ यात्रा विकास समिति के अध्यक्ष कमल बंसल ने दी है। योजना के तहत अयोध्या समेत विभिन्न तीर्थ स्थलों पर तीर्थयात्रा के लिए भी बड़ी संख्या में आवेदन प्राप्त हो रहे हैं तीर्थयात्रियों को भी जल्द ही अन्य स्थानों पर भेजा जाएगा।

सरकार तीर्थयात्रियों को रामेश्वरम, शिरडी, मथुरा, हरिद्वार, तिरुपति समेत 13 सर्किटों में भेजेगी। जिसका पूरा खर्च दिल्ली सरकार वहन करेगी। प्रत्येक तीर्थयात्री अपने साथ 21 वर्ष या उससे अधिक उम्र के नागरिक को ले जा सकता है। जिसका खर्च भी सरकार वहन करेगी।

योजना के अंतर्गत शामिल किया जाएगा अयोध्या को

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के माध्यम से दिल्ली सरकार दिल्ली के बुजुर्गों की तीर्थ यात्रा कराती है। जिसका पूरा खर्च दिल्ली सरकार वहन करती है। यह यात्रा कई तीर्थ स्थानों पर आयोजित की जाती है जिसमें हरिद्वार, द्वारकापुरी, महाराज रामेश्वरम, शिरडी, वैष्णो देवी, अजमेर आदि शामिल हैं। अब दिल्ली सरकार ने राम जन्मभूमि अयोध्या को भी इस योजना में शामिल करने का फैसला किया है। इसकी घोषणा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 27 अक्टूबर 2021 को की थी।

तीर्थयात्रा की अंतिम ट्रेन 2 जनवरी, 2020 को निर्धारित की गई थी। अमृतसर के लिए पहली ट्रेन 12 जुलाई, 2019 को सफदरजंग रेलवे स्टेशन से रवाना हुई थी। इस योजना के माध्यम से 12 जुलाई, 2019 से 20 जनवरी तक 36 ट्रेनों को विभिन्न स्थानों पर भेजा गया है। 2020 जिसके माध्यम से 35000 से अधिक दिल्ली के नागरिकों ने तीर्थयात्रा की है।

योजना के अंतर्गत इन स्थलों के लिए रवाना की गई ट्रेन

  • रामेश्वरम 9 ट्रेन
  • तिरुपति 5 ट्रेन
  • द्वारकाधीश 6 ट्रेन
  • अमृतसर 4 ट्रेन
  • वैष्णो देवी 4 ट्रेन
  • शिरडी 3 ट्रेन
  • जगन्नाथपुरी 2 ट्रेन
  • उज्जैन 2 ट्रेन
  • अजमेर 1 ट्रेन

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना से मार्च अपडेट

दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए 69 अरब रुपये के बजट की घोषणा की। इस घोषणा के दौरान मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत दिल्ली के बुजुर्गों को रामलला के दर्शन के लिए अयोध्या की तीर्थ यात्रा पर ले जाने का निर्णय लिया गया इस यात्रा का पूरा खर्च दिल्ली सरकार वहन करेगी। तीर्थयात्रियों के साथ डॉक्टरों और पैरामेडिकल कर्मियों की एक टीम भी भेजी जाएगी। 70 वर्ष से अधिक आयु के सभी नागरिक अपने साथ एक परिचारक भी ला सकते हैं।

इस योजना के माध्यम से अब दिल्ली के नागरिकों को अयोध्या की यात्रा करने का अवसर मिलेगा।
मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र से हर साल 1,000 तीर्थयात्रियों का चयन किया जाएगा। सभी चिन्हित तीर्थयात्रियों को ₹100,000 तक का दुर्घटना बीमा कवरेज भी प्रदान किया जाएगा। इस योजना के माध्यम से दिल्ली के नागरिकों का तीर्थ यात्रा करने का सपना अब पूरा होगा।

यात्रा के दौरान उपलब्ध सेवाएं

इस यात्रा में लोगों के लिए वातानुकूलित ट्रेन, ठहरने, खाने, रहने और अन्य व्यवस्था की जाएगी। वहीं, प्रत्येक बुजुर्ग यात्री के साथ 21 वर्ष से अधिक आयु का एक सहायक हो सकता है। अगर आप भी इन सभी सुविधाओं का लाभ उठाना चाहते हैं तो इस योजना के तहत अपना अनुरोध कर सकते हैं। इस योजना के तहत सरकार 77,000 बुजुर्गों को मुफ्त तीर्थ यात्रा मुहैया कराएगी।

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना नया अपडेट

जैसा कि सभी जानते हैं कि कोरोना वायरस का संक्रमण दिन ब दिन पूरे देश में फ़ैल रहा है, ऐसे में देश की जनता संघर्ष कर रही है ताकि इस संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। इस योजना के तहत, राज्य के वरिष्ठ नागरिकों को मुफ्त सवारी मिलती है, इस योजना के तहत, सरकार सभी खर्चों को वहन करती है।

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के अंतर्गत कवर किए गए स्थान

  • दिल्ली-मथुरा-वृंदावन-आगरा-फतेहपुर सीकरी-दिल्ली
  • दिल्ली-हरिद्वार-ऋषिकेश-नीलकंठ-दिल्ली
  • दिल्ली-अजमेर-पुष्कर-दिल्ली
  • दिल्ली-अमृतसर- बाघा बॉर्डर-आनंदपुर साहिब-दिल्ली
  • दिल्ली-वैष्णो देवी-जम्मू-दिल्ली

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना दस्तावेज पात्रता

  • आवेदक दिल्ली का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • तीर्थयात्रा कार्यक्रम का लाभ लेने के लिए आयु 60 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए। तीर्थयात्रा पर प्रत्येक वरिष्ठ के साथ 18
  • वर्ष या उससे अधिक आयु का एक सहायक हो सकता है।
  • इस योजना के तहत सरकारी अधिकारी और कर्मचारी भाग नहीं ले सकते हैं।
  • एक बुजुर्ग व्यक्ति अपने जीवन में केवल एक बार तीर्थयात्रा शासन से लाभान्वित हो सकता है।
  • एक बुजुर्ग व्यक्ति की वार्षिक आय 3 लाख रुपये से कम होनी चाहिए। 71 साल या उससे अधिक उम्र के लोगों को भी 21 साल
  • तक का साथी लाने की सुविधा होगी सभी ट्रेनों में एयर कंडीशनिंग होगी।
  • आवेदक का आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • बैंक खाता
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया – तीर्थ यात्रा योजना पंजीकरण

इस यात्रा के लिए पंजीकरण करने के लिए आवेदकों को नीचे दिए गए चरणों का पालन करना चाहिए

  • यात्रा के लिए पंजीकरण करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट खोलें।

तीर्थ यात्रा योजना

  • अब ई डिस्ट्रिक्ट दिल्ली में रजिस्ट्रेशन सेक्शन में न्यू यूजर पर क्लिक करें
  • वहां, आधार कार्ड या वोटर कार्ड का चयन करें और दस्तावेज़ संख्या दर्ज करें।
  • अब कैप्चा कोड दर्ज करें और चेकबॉक्स को चेक करें
  • जारी रखें विकल्प पर क्लिक करें और पंजीकरण फॉर्म दिखाई देगा
  • बाकी जानकारी फॉर्म में दर्ज करें और स्कैन की गई छवि अपलोड करें
  • आवेदन पत्र जमा करें और पंजीकरण आईडी और पासवर्ड याद रखें
  • अब साइट पर लॉग इन करें और मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के लिए आवेदन करें

आवेदन की स्थिति जानने की प्रक्रिया

  • आधिकारिक वेबसाइट खोलें।
  • होम पेज से आपको सर्विसेज सेक्शन में ट्रैक योर रिक्वेस्ट विकल्प पर क्लिक करना होगा
  • विभाग का नाम चुनें राजस्व विभाग
  • फिर मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना चुनें
  • आवेदन संख्या और आवेदक का नाम दर्ज करें
  • अब स्क्रीन पर दिखने वाले कैप्चा को एंटर करें
  • खोज विकल्प पर क्लिक करें और आपके आवेदन की स्थिति स्क्रीन पर दिखाई देगी

शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको ई डिस्ट्रिक्ट, दिल्ली की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
  • होम पेज पर आपको रजिस्टर कंप्लेंट लिंक पर क्लिक करना होगा।

Tirth Yatra Yojana 2022

  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा जिस पर एक शिकायत फॉर्म होगा।
  • आपको इस फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी दर्ज करनी होगी, जैसे आपका नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, आदि।
  • अब आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना है।
  • इस तरह आप शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

ग्रीवेंस स्टेटस ट्रैक करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले, आपको ई डिस्ट्रिक्ट, दिल्ली की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
  • होम पेज पर आपको ट्रक शिकायत लिंक पर क्लिक करना होगा।

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना

  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा जहां आपको Gievance, Mobile Number और Captcha Code दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको सर्च बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह आप शिकायत की स्थिति को ट्रैक कर सकते हैं।

संपर्क जानकारी

इस लेख के माध्यम से, हमने मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की है। यदि आप अभी भी किसी भी प्रकार की समस्या का सामना कर रहे हैं, तो आप हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके या ईमेल लिखकर उसका समाधान कर सकते हैं। हेल्पलाइन नंबर और ईमेल आईडी इस प्रकार है।

हेल्पलाइन नंबर: 011-23935730, 011-23935731, 011-23935732, 011-23935733, 011-23935734
ईमेल आईडी- [email protected]

ध्यान दें :- ऐसे ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई नई या पुरानी सरकारी योजनाओं की जानकारी हम सबसे पहले अपने इस वेबसाइट sarkariyojnaa.com के माध्यम से देते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें ।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

Posted by Amar Gupta

🔥🔥 Join Our Group For All Information And Update, Also Follow me For Latest Information🔥🔥

🔥 Follow US On Google News Click Here
🔥 Whatsapp Group Join Now Click Here
🔥 Facebook Page Click Here
🔥 Instagram Click Here
🔥 Telegram Channel Techgupta Click Here
🔥 Telegram Channel Sarkari Yojana Click Here
🔥 Twitter Click Here
🔥 Website  Click Here

FAQ Tirth Yatra Yojana 2022 से जुड़े कुछ सवाल और जवाब

दिल्ली मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना कब शुरू की गई थी?

दिल्ली मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना की शुरुआत मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 12 जुलाई 2019 को की थी।

इस योजना में आवेदन करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट कौन सी है?

नागरिक इस योजना के लिए दिल्ली जिले की आधिकारिक वेबसाइट edistrict.delhigovt.nic.in पर आवेदन कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना क्या है

इस योजना के तहत, सरकार दिल्ली के उन नागरिकों को एक अवसर प्रदान करती है जो अपने स्वयं के खर्च किए गए धन से तीर्थ यात्रा करने में असमर्थ हैं।

Leave a Comment