ज्वाइन करे टेलीग्राम ग्रुप

PM Rashtriya Poshan Maah 2022: 5वां राष्ट्रीय पोषण माह 1 से 30 सितंबर तक

PM Rashtriya Poshan Maah 2022 : 1 से 30 सितंबर तक लोक निर्वाह मिशन की सराहना की जाएगी। पांचवां राष्ट्रीय पोषण अभियान 2022 | सार्वजनिक पोषण माह का पूरा डेटा हिंदी में | महिलाओं और युवा सुधार की सेवा द्वारा जीविका धर्मयुद्ध के तहत पांचवां सार्वजनिक निर्वाह माह शुरू किया गया है। जो 1 से 30 सितंबर 2022 तक चलेगा। इस बार पोषण माह “लेडीज एंड वेलबीइंग” और “किड्स एंड स्कूलिंग” पर केंद्रित है।

महिला एवं युवा उन्नति पुजारी स्मृति ईरानी ने कहा है कि इस चालू वर्ष का उद्देश्य ग्राम पंचायतों के माध्यम से पोषण माह को “पोषण पंचायत” के रूप में शुरू करना है। इसलिए सतत पोषण माह में गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं, 6 साल से कम उम्र के बच्चों और किशोर युवतियों पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए और उन्हें भरण-पोषण के बारे में जागरूक किया जाना चाहिए। जिसके तहत पंचायत स्तर पर आसपास के विशेषज्ञों द्वारा माइंडफुलनेस एक्सरसाइज का नेतृत्व किया जाएगा। इसके अलावा पोषण पंचायत समितियां आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं, आशा कार्यकर्ताओं और एएनएम नर्सों के साथ मिलकर काम करेगी। PM Rashtriya Poshan Maah 2022 से संबंधित संपूर्ण विवरण प्राप्त करने के लिए हमारे इस आर्टिकल को नीचे तक पढ़े।

ज्वाइन करे टेलीग्राम ग्रुप

Rashtriya Poshan Maah 2022 राष्ट्रीय पोषण माह

 

प्रधानमंत्री पोषण अभियान क्या है?

हमारे देश के राष्ट्राध्यक्ष नरेंद्र मोदी ने 8 मार्च 2018 पर ग्लोबल लेडीज डे के अवसर पर जीविका धर्मयुद्ध की शुरुआत की है। इस मिशन का प्राथमिक उद्देश्य पौष्टिकता को दूर करके एक बहुत अधिक समर्थित भारत बनाना है। गर्भवती महिलाओं, स्तनपान कराने वाली माताओं और बच्चों और 6 साल से कम उम्र की किशोर युवतियों में समस्याएँ। चूंकि हमारे देश में स्वस्थ भोजन की कमी का मुद्दा कदम दर कदम बढ़ रहा है।

यह मिशन आंगनबाडी में कार्यरत महिलाओं के माध्यम से देश भर में चलाया जाता है। जिसके लिए उन्हें अतिरिक्त ₹500 दिए जाते हैं। शीर्ष राज्य नेता के निर्वाह मिशन के तहत पोषण माह कार्यक्रम का समन्वय किया जाता है। इस कार्यक्रम में गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं, बच्चों और 6 साल से कम उम्र की युवा महिलाओं को भरण-पोषण के बारे में जागरूक किया जाता है और उन्हें पौष्टिक भोजन दिया जाता है।

Rashtriya Poshan Abhiyan 2022 Highlights

कार्यक्रम का नाम PM Rashtriya Poshan Maah 2022
संबंधित अभियान पोषण अभियान
संबंधित विभाग महिला एवं बाल विकास मंत्रालय
कार्यक्रम शुरू किया गया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा
संचालित अवधि 1 सितंबर से लेकर 30 सितंबर 2022 तक
लाभार्थी 6 साल से कम आयु के बच्चे एवं किशोरिया, गर्भवती महिलाएं एवं दूध पिलाने वाली माताएं,
उद्देश्य पोषण के प्रति जागरूक करना
साल 2022

PM Rashtriya Poshan Maah 2022:

देश में पांचवां जन पोषण माह शुरू हो गया है। चालू वर्ष के राष्ट्रीय पोषण अभियान में सेवा की व्यवस्था ग्राम पंचायतों को पोषण पंचायतों के रूप में जोड़ने की है। जिसके लिए महिला एवं बाल सुधार सेवा ने ग्राम पंचायत स्तर तक की परियोजनाओं की प्रगति की व्यवस्था की है। इस श्रंखला के तहत आंगनबाडी केन्द्रों पर महिलाओं के बीच जल संग्रहण के महत्व पर जोर दिया जाएगा और पैतृक क्षेत्रों में मां और बच्चों की भलाई के लिए पारंपरिक खाद्य पदार्थों से जुड़े आंकड़े दिए जाएंगे।

इसके अलावा अम्मा के पारंपरिक पौष्टिक व्यंजनों की रसोई भी राज्य स्तरीय अभ्यास के तहत संचालित की जाएगी। साथ ही सार्वजनिक स्तर पर खिलौना बनाने के स्टूडियो के लिए आंगनबाडी स्थलों में शिक्षा दिखाने के लिए प्रथागत और पड़ोस के लोगों को आगे बढ़ाने की व्यवस्था है। इसके अलावा अम्मा के पारंपरिक पौष्टिक व्यंजनों की रसोई भी राज्य स्तरीय अभ्यास के तहत संचालित की जाएगी। सार्वजनिक स्तर पर खिलौना बनाने वाले स्टूडियो के लिए आंगनबाडी आवासों में शिक्षा दिखाने के लिए प्रथागत और पड़ोस के व्यक्तियों को आगे बढ़ाने की भी व्यवस्था है।

राज्य के प्रमुख नरेंद्र मोदी ने अपने रेडियो लोकेशन मन की बात में देश के लोगों को राष्ट्रीय पोषण माह 2022 मनाने के लिए प्रेरित किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने रेडियो स्थान मन की बात में देश के लोगों से राष्ट्रीय पोषण माह 2022 का पालन करने के लिए बात की है। 5वे राष्ट्रीय पोषण माह मुख्य लक्ष्य जन आंदोलन को जन भागीदारी में बदलना और प्रधानमंत्री के सुपोषित भारत के विजन को सकार करना है।

राष्ट्रीय पोषण माह 2022 का उद्देश्य

राष्ट्रीय पोषण माह 2022 का प्राथमिक लक्ष्य “देवियों और भलाई” या “बच्चों और स्कूली शिक्षा” को शून्य करना है। जिसके लिए सर्विस ऑफ लेडीज एंड किड इम्प्रूवमेंट द्वारा ग्राम पंचायत स्तर तक की परियोजनाओं को पूरा किया जाएगा। इन परियोजनाओं के माध्यम से एक महीने के लिए रोज़मर्रा के नागरिकों के बीच जीविका के बारे में जागरूकता पैदा की जाएगी।

इसके साथ ही गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं में भेद करने और संपर्क करने की व्यवस्था की गई है और 6 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए भी मेलों का आयोजन किया जाएगा। राष्ट्रीय पोषण माह 2022 मिशन पोषण 2.0 के आसपास केंद्रित है। जो पोषक तत्व, वितरण पहुंच और परिणाम को सुघंड बनाने का प्रयास करता है।

राष्ट्रीय पोषण माह 2022 के मुख्य बिंदु 

  • राष्ट्रीय पोषण माह 2022 में, 1 सितंबर से 30 सितंबर, 2022 तक गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं, 6 साल से कम उम्र के बच्चों और किशोर युवतियों पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।
    जिसके लिए उन्हें विभिन्न परियोजनाओं का समन्वय करके जीविका के महत्व के बारे में बताया जाएगा और शिविरों के माध्यम से।
  • पंचायत स्तर तक माइंडफुलनेस अभ्यास का नेतृत्व करने के लिए संबंधित क्षेत्र पंचायती राज अधिकारियों, सीडीपीओ, पड़ोस के अधिकारियों का सहयोग लिया जाएगा।
  • इस बार आंगनबाडी केन्द्रों में ध्यान लगाने वाले बच्चों के लिए देशी और आस-पास के खिलौनों के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए एक सार्वजनिक स्तर के खिलौना निर्माण स्टूडियो का समन्वयन किया जाएगा।
  • इसके अलावा आंगनबाडी केन्द्रों पर महिलाओं के बीच वर्षा जल संग्रहण के महत्व को रेखांकित किया जाएगा और देश क्षेत्रों में युवाओं के लिए स्वास्थ्य और पारंपरिक पौष्टिक सामग्री से जुड़े आंकड़े दिए जाएंगे।
  • सरकार द्वारा राज्य स्तर पर राष्ट्रीय पोषण माह 2022 के साथ परम पारीक व्यंजनों को ध्यान में रखकर गतिविधियां आयोजित की जाएगी। जिसके लिए विशेष रूप से ”अम्मा की रसोई” के द्वारा पारंपरिक व्यंजनों व खाद पदार्थों को कार्यक्रम में शामिल किया जाएगा।

सारांश(Summary)

अगर हमारे द्वारा दी गई जानकारी आप लोगों को पसंद आया हो तो हमारे इस आर्टिकल को अपने सभी मित्रों के साथ शेयर अवश्य करें और ऐसे ही खबरों को जानने के लिए हमारे साथ इस आर्टिकल से जुड़े रहे ताकि आपके काम की कोई भी खबर आप से ना छूटे और आप लोग सभी योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सके|

ध्यान दें :- ऐसे ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई नई या पुरानी सरकारी योजनाओं की जानकारी हम सबसे पहले अपने इस वेबसाइट sarkariyojnaa.com के माध्यम से देते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें ।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

Posted by Amar Gupta

ज्वाइन करे टेलीग्राम ग्रुप

🔥🔥 Join Our Group For All Information And Update, Also Follow me For Latest Information🔥🔥

🔥 Follow US On Google News Click Here
🔥 Whatsapp Group Join Now Click Here
🔥 Facebook Page Click Here
🔥 Instagram Click Here
🔥 Telegram Channel Techgupta Click Here
🔥 Telegram Channel Sarkari Yojana Click Here
🔥 Twitter Click Here
🔥 Website  Click Here

FAQ PM PM Rashtriya Poshan Maah 2022

✅ पोषण माह 2022 का विषय क्या है?

इस वर्ष, उद्देश्य “महिला और स्वास्थ्य” (महिला और स्वास्थ्य) और “बच्चा और शिक्षा” (बाल और शिक्षा) पर मुख्य ध्यान देने के साथ ग्राम पंचायतों के माध्यम से पोषण माह को पोषण पंचायतों के रूप में शुरू करना है।

✅ पोषण माह का क्या महत्व है?

पोषण माह का उद्देश्य छोटे बच्चों और महिलाओं के बीच कुपोषण को दूर करने के लिए समुदाय को संगठित करना और लोगों की भागीदारी को बढ़ावा देना और सभी के लिए स्वास्थ्य और पोषण सुनिश्चित करना है।

✅ राष्ट्रीय पोषण माह कब शुरू किया गया था?

पीएम मोदी ने मार्च 2018 में पोषण अभियान (राष्ट्रीय पोषण मिशन) का शुभारंभ किया। यह 2022 तक कुपोषण मुक्त भारत की प्राप्ति सुनिश्चित करने के लिए एक बहु-मंत्रालयी अभिसरण मिशन है।

✅ पोषण एमएएच 2022 का विषय क्या है?

इस वर्ष, उद्देश्य ” महिला और स्वास्थ्य” (महिला और स्वास्थ्य) और “बच्चा और शिक्षा” (बाल और शिक्षा) पर मुख्य ध्यान देने के साथ ग्राम पंचायतों के माध्यम से पोषण माह को पोषण पंचायतों के रूप में शुरू करना है।

Leave a Comment