ज्वाइन करे टेलीग्राम ग्रुप

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना 2022:ऑनलाइन आवेदन, पंजीकरण प्रक्रिया?

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana पंजीकरण प्रक्रिया और मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करें और इस की पात्रता और इसके लाभ देखें हमारे देश के जितने भी किसान हैं उन सभी की आर्थिक स्थिति बहुत खराब हो गया है और सभी किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए सरकार के द्वारा बहुत सारे ऐसे प्रयास किए जा रहे हैं जिससे कि हमारे किसान और उनकी आय में वृद्धि हो सके लेकिन कुछ नहीं हो पा रहा है उन सभी किसानों की आय वृद्धि करने के लिए हमारे सरकार ने बहुत सारे प्रयास किए और राजस्थान सरकार के द्वारा भी किसानों की आय में वृद्धि कराने के लिए बहुत से ऐसे योजनाओं को संचालित किया जा रहा है ऐसी ही एक योजना सरकार के द्वारा फिर से निकाला गया है जिसका नाम मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना है इस योजना के माध्यम से जितने भी किसान हैं और सभी को बिजली के बिल में अनुदान दिया जाएगा और आज हम अपने इस अधिकार के अंतर्गत आप सभी को मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के अंतर्गत सारी जानकारी आपको हम अपने इस आर्टिकल के जरिए बताने वाले हैं तो आप कृपया कर हमारे इस आर्टिकल को आज तक जरूर पड़े जिससे आपको इससे संबंधित सारी जानकारी और इसमें आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया और ऊर्जा योजना का उद्देश्य क्या है इसका लाभ क्या है इसकी विशेषताएं क्या है इसके अंतर्गत आवेदन करने के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज कौन सी जानकारी मुख्यमंत्री किसान ऊर्जा के अंतर्गत आवेदन करने में सक्षम हो सकते हैं।

mukhyamantri kisan mitra urja yojana

इस पोस्ट में क्या है ?

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana 2022

मैं आप सभी को बता दूं कि इस योजना को हमारे राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा 9 जून को आरंभ किया गया है मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के माध्यम से सभी प्रदेश के मीटर की प्रक्रिया है और उस सभी उपभोक्ताओं को बिजली के बिल पर अनुदान दिया जाएगा और यह अनुदान की राशि प्रतिमा अधिकतम ₹1000 एवं अधिकतम प्रतिवर्ष ₹12000 दिए जाएंगे और इस योजना के अंतर्गत जो भी पात्र की होता है और विद्युत वितरण निगम के द्वारा दुई मासिक बिलिंग व्यवस्था के आधार पर बिजली का बिल जारी किया जाएगा बिजली की बिल कि 60 परतिशत राशि अनुपातिक आधार पर प्रतिमा देती है और यह राशि अधिकतम ₹1000 प्रतिमाह होती है मुख्यमंत्री किसान मित्र उर्जा योजना लाभ सभी किसान उपभोक्ता घुमा इस मिला हमको जाएगा इस योजना की कार्यांवित के लिए सरकार के द्वारा 1450 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे और इसका लाभ दिया जाएगा।

11.57 लाख किसानों को पहुंचाया जाएगा इस योजना का लाभ

राजस्थान सरकार के द्वारा किसानों के लिए विभिन्न प्रकार के योजनाओं को संचालित किया जा रहा है। जिसमें से एक किसान मित्र ऊर्जा योजना भी है जिस का संचालन राजस्थान सरकार के द्वारा किया जाता है इस योजना के माध्यम से अब तक किसानों को लाख किसानों को लाभ पहुंचाया जाएगा और जिसमें के लिए सरकार के द्वारा 747. 30 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं इस योजना के कारण वश लगभग 7.30 लाख किसानों को बिजली का बिल सुनय हो गया है इस बात की जानकारी सरकार की ओर से ट्वीट के जरिए दी गई है कोरोना का हाल के दौरान किसानों को कई प्रकार से समस्याओं का सामना करना पड़ा था इसी बात को ध्यान में रखते हुए राजस्थान के सरकार के द्वारा मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना को आरंभ करने की घोषणा की गई थी सरकार के द्वारा इस योजना को 17 जुलाई को लॉन्च किया गया था इस योजना के माध्यम से सामान्य श्रेणी ग्रामीण के कृषि कनेक्शन उपभोक्ताओं को ₹12000 प्रति वर्ष का अतिरिक्त अनुदान दिया जाएगा।

key highlights of Rajasthan Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana 2022

🔥 योजना का नाम 🔥 मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना
🔥 किसने आरंभ की 🔥 राजस्थान सरकार
🔥 लाभार्थी 🔥 राजस्थान के कृषि
🔥 उद्देश्य 🔥 बिजली के बिल पर अनुदान प्रदान करना
🔥 आधिकारिक वेबसाइट 🔥 यहां क्लिक करें
🔥 साल 🔥 2022
🔥 आवेदन का प्रकार 🔥 ऑनलाइन/ऑफलाइन
🔥 राज्य 🔥 राजस्थान
🔥 अनुदा राशि 🔥 अधिकतम ₹1000 प्रतिमाह एवं ₹12000 प्रति वर्ष

600000 किसानों को पहुंचा योजना का लाभ

राजस्थान के ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी के द्वारा 24 मार्च 2022 को यह जानकारी दिया गया है कि प्रदेश में मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का संचालन किया जा रहा है जिसके माध्यम से प्रतिमाह किसानों को बिजली बिल में एक हजार रुपए की छूट दी जा रही है अब तक इस योजना के माध्यम से 600000 किसानों को लाभ दिया गया है और इसके अलावा उनके द्वारा यह भी जानकारी मिली है कि इस वर्ष 100 यूनिट तक बिजली का उपयोग करने वाले घरेलू विद्युत उपभोक्ताओं को 50 यूनिट तक बिजली निशुल्क दी जाएगी और इसके अलावा समस्त घरेलू उपभोक्ताओं को 150 यूनिट तक उपयोग भर ₹3 प्रति यूनिट का अनुदान और डेढ़ सौ से 300 यूनिट के उपयोग करने पर ₹2 प्रति यूनिट दिया जाएगा सरकार के द्वारा बिजली बिलों में कृषि बीपीएल छोटे घरेलू उपभोक्ताओं को सीएसपी और सहरिया उपभोक्ताओं को विद्युत के दरों में नियमित अनुदान दिया जा रहा है जिसके कारण बस उपभोक्ताओं पर वित्तीय भार काम होगा मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना को मई से लागू किया गया है।

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana 2022 अतिरिक्त अनुदान

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के अंतर्गत सभी ग्रामीण क्षेत्र के और सामान्य श्रेणी के मीटर और फ्लैट श्रेणी के कृषि उपभोक्ताओं को वर्तमान में दिए जा रहे हैं टैरिफ अनुदान के साथ और इसके अतिरिक्त अनुदान भी दिया जाएगा यह अतिरिक्त अनुदान ₹1000 प्रति माह का होगा और यह 1 वर्ष में ₹12000 का अधिकतम और इसके अतिरिक्त अनुदान दिया जाएगा या अतिरिक्त अनुदान निम्नलिखित शर्तों के अधीन दिए जाएगा।

  • इस योजना को तीनों विद्युत वितरण निगम में बिलिंग महा माय एवं उसके बाद जारी होने वाले कृषि बिलो पर लागू किया जाएगा।
  • विद्युत विपत्र विद्युत वितरण निगम द्वारा बजट घोषणा की अनुपालन के आधार पर प्रति 2 माह में जारी किया जाएगा।
  • अतिरिक्त अनुदान की राशि केवल सामान्य श्रेणी ग्रामीण के मीटर एवं फ्लैट रेट श्रेणी के उपभोक्ताओं को दिया जाएगा।
  • यदि चालू बिलिंग माह में बिल जारी करते समय कोई भी पूर्व बकाया राशि नहीं है तो इस स्थिति में विद्युत विपत्र में अनुदान राशि इस परिपत्र के अनुसार समायोजित की जाएगी।
  • अपने विद्युत विपत्र का भुगतान देती थी पर करने के लिए उपभोक्ताओं को प्लीज किया जाएगा।
  • यदि किसी वित्तीय वर्ष में भोक्ता की पूर्ण भारत ₹10000 से कम है तो इस स्थिति में शेष राशि समायोजन उसी वित्तीय वर्ष के शेष आगामी माह में किया जाएगा।
  • यदि वर्ष के बीच में नया कनेक्शन जारी किया जाता है तो उस स्थिति में अनुदान की वार्षिक सीमा आनुपातिक रूप से होगी।
  • प्रतिमाह  सही लाभार्थी किसको को संख्या स्था उनके दिए गए जानकी सूचना वित्त विभाग को दिया जाएगा।
  • विद्युत वितरण निगम को इस योजना के अंतर्गत दी जाने वाली अतिरिक्त अनुदान राशि तथा आगामी वित्तीय वर्ष के प्रस्ताव को शामिल करते हुए वित्त विभाग को सूचना प्रदान करनी होगी यह सूचना भी ऐसी बैठक के माध्यम से दिया जाएगा जिससे कि विभाग द्वारा अनुदान राशि का प्रावधान सुनिश्चित किया जा सके।
  • लाभार्थी को इसके अतिरिक्त अनुदान राशि प्राप्त करने के लिए अपने विद्युत खाता संख्या को आधार संख्या एवं बैंक खाता संख्या को लिंक करना होगा।
  • यदि उपभोक्ता द्वारा विद्युत उप दुरुपयोग किया जाता है याद विद्युत को चोरी की जाती है तो फिर विद्युत चोरी एवं निगम संपत्ति का नुकसान की दशा में उपभोक्ता को अनुदान की राशि देश मुक्त होने पर संपूर्ण आरोपित राशि जमा करने के पश्चात अगले बिलिंग माह में दिया जाएगा।

8.84 लाख किसानों को प्राप्त होगा योजना का लाभ

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana के माध्यम से लगभग 8.8400000 से अधिक का स्तर किसानों को लाभ पहुंचाया गया है इन किसानों को 231 करोर  रुपए का अतिरिक्त अनुदान दिया जाएगा इस बात की जानकारी राजस्थान सरकार के ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी के द्वारा दिया गया है इस योजना के माध्यम से 3.41 लाख से अधिक का स्तर किसानों को बिजली बिल शून्य स्तर पर आ गए हैं मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के माध्यम से सभी किसानों को राज्य सरकार के द्वारा 90 पैसे प्रति यूनिट की दर से बिजली उपलब्ध करवाई जा रही है। इस योजना के अंतर्गत आवेदन नजदीकी विद्युत विभाग से माध्यम से किया जा सकता है इसके अलावा इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आप की आधार संख्या खाते से लिंक होना आवश्यक है।

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana का शुभारंभ

मैं आपको बता दूं कि 17 जुलाई को राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का शुभारंभ किया गया है यह शुभारंभ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया गया है या वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुख्यमंत्री जी के द्वारा ऊर्जा विभाग की 308 करोड रुपए की लागत की विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन भी किया गया इस योजना के माध्यम से किसानों को बिजली बिल पर ₹1000 का अनुदान सरकार के द्वारा प्रतिमा दिया जाएगा या अनुदान सीधे किसान के बैंक खाते में आएगा योजना का लाभ मई से बिजली के बिल पर दिया जाएगा मुख्यमंत्री जी के द्वारा यह भी सरकारी योजना गई है कि वर्ष 2024 को टारगेट को पूरा कर लिया जाएगा। जिसमें 2000 मेगावाट बिजली उत्पादन करने का लक्ष्य रखा गया है और मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के माध्यम से लघु एवं मध्यम वर्ग के सभी किसानों के लिए कृषि भी लगभग निशुल्क हो जाएगी इस योजना के अंतर्गत सरकार के द्वारा सालाना 14.500000000 की राशि खर्च की जाएगी।

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का उद्देश्य

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana 2022 इसका मुख्य उद्देश्य है कि किसानों को बिजली के बिल पर अनुदान दिया जाएगा यह योजना के माध्यम से किसानों को बिजली के बिल पर अधिकतम भाग जा रुपए प्रतिमा अनुदान दिया जाएगा जिससे कि किसान उपभोक्ता अपने बिल का भुगतान करने में सहायता प्राप्त होगी इसके लिए और इसके अलावा मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के माध्यम से किसानों को बिजली की बचत करने के लिए भी प्रोत्साहित किया जाएगा जिससे कि इसके लिए यदि किसान का बिल हजार रुपए प्रति माह से कम आता है तो इस स्थिति में बिल की राशि एवं अनुदान राशि के बीच का अंतर लाभार्थी के खाते हस्तांतरित किया जाएगा।

विद्युत वितरण निगम में बकाया लाभार्थी के विरुद्ध बकाया

इस योजना का लाभ किसान उपभोक्ता द्वारा तभी उठाया जा सकता जब लाभार्थी के विरुद्ध विद्युत वितरण निगम में कोई बकाया नहीं बचा हो और बकाया होने की स्थिति में यदि कृषि उपभोक्ता बकाया का भुगतान कर देता है तो इस स्थिति में अनुदान की राशि आदमी बिजली बिल मैं होगी इसके अलावा यदि किसी की शान द्वारा बिजली का कम उपयोग किया जाता है और उसका बिजली बिल हजारों पैसे कमाता है तो बिजली की राशि अनुदान राशि बीच का अंतर लाभार्थी के खाते में जमा करवा दिया जाएगा जिससे कि किसान उपभोक्ता बिजली की बचत करने के लिए प्रोत्साहित हो जाएंगे और मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का लाभ केंद्र एवं राज्य सरकार के कर्मचारियों द्वारा नहीं उठाया जा सकता है इस योजना का लाभ लेने के लिए सभी लाभार्थियों का अपने आधार संख्या को बैंक खाते से जोड़ना अनिवार्य होगा।

mukhyamantri Kisan Mitra urja Yojana मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना

वर्ष 2021-22 के बजट में की गई घोषणा

राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा वर्ष 2021 से 22 के बजट की घोषणा करते समय सामान्य श्रेणी के ग्रामीण कृषि उपभोक्ताओं को प्रति माह ₹1000 और प्रति वर्ष ₹12000 अनुदान राशि दिया जाएगा और घोषणा की गई थी यह घोषणा केवल उन्हीं की रिसीव वक्ताओं के लिए की गई थी जिनका भील मीठी रिंग से आता है इस घोषणा को ध्यान में रखते हुए विद्युत वितरण निगम के द्वारा ₹750 का प्रावधान टैरिफ सब्सिडी मध्य में भी शामिल किया गया था यह प्रावधान अनुदान राशि हस्तांतरण के लिए निर्धारित किया गया है।

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana 2022 के लाभ और इसकी विशेषताएं

  • मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना को राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा 9 जून को आरंभ किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से प्रदेश के किसान उपभोक्ताओं को अनुदान दिया जाएगा जिससे कि उन्हें बिजली के बिल का भुगतान करने में सहायता प्राप्त होगी।
  • यह अनुदान राशि प्रतिमाह अधिकतम हजार रुपए और प्रतिवर्ष अधिकतम ₹12000 है।
  • सभी पात्र कृषि उपभोक्ताओं को विद्युत वितरण निगम के द्वारा इस योजना के अंतर्गत हुई मासिक बिल्डिंग व्यवस्था के आधार पर बिजली का बिल जारी किया जाएगा।
  • इस योजना का आरंभ करने की घोषणा वर्ष 2021 से 22 के बजट में मुख्यमंत्री श्री अशोक वह तुलसी के द्वारा की गई थी।
  • बिजली के बिल 60% राशि अनुपातिक आधार पर प्रतिमा दे होगी जो कि अधिकतम हजार रूपए प्रतिमा होगी।
  • इस योजना को आरंभ करने की घोषणा 2021 से 22 के बजट में मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा की गई थी।
  • इस योजना का लाभ सभी किसानों को भुगतान से उठा सकते हैं।
  • सरकार के द्वारा इस योजना के कार्यान्वयन के लिए 1450 करोड़ रुपए का खर्च किया गया था।
  • इस योजना का लाभ कृषि के द्वारा केवल तभी उठाया जा सकता है जबकि कृषि के विद्युत वितरण निगम में कोई बकाया नहीं रहता है।
  • Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana 2022 का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थियों को अपनी आधार संख्या को बैंक खाते से जोड़ना अनिवार्य होगा।
  • यदि किसान के द्वारा बकाया राशि का भुगतान कर दिया जाता है तो वह इस स्थिति में प्राप्त करने के लिए लाभार्थी को अपने आधार संख्या को खाते से बैंक खाते से जोड़ना अनिवार्य होगा।
  • यदि किसान के द्वारा बकाया राशि का भुगतान कर दिया जाता है तो वह इस स्थिति में अनुदान राशि आगामी बिजली बिल में देय होगी।
  • इस योजना के अंतर्गत कृषि उपभोक्ता बिजली की बचत करने के लिए भी प्रोत्साहित होंगे।
  • मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का लाभ केंद्र एवं राज्य सरकार के कर्मचारियों के द्वारा नहीं उठाया जा सकता है।
  • यदि आप इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो आपको आधार संख्या आपके खाते से लिंक होनी अनिवार्य है।

महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • बैंक खाता विवरण
  • निवास प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया।

  • सबसे पहले आपको अपने नजदीकी विद्युत विभाग में जाना होगा।
  • इसके पश्चात आपको वहां से मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का आवेदन पत्र प्राप्त करना होगा।
  • इस पर अब आपको आवेदन पत्र पूछी गई सभी जानकारी को ध्यान पूर्वक भरना होगा और उसे महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कि आपका नाम मोबाइल नंबर ईमेल आईडी यह सभी दर्ज करना होगा।
  • यदि आपको अब आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों के आवेदन पत्र से अटैच करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको यह आवेदन पत्र विद्युत विभाग में जमा करना होगा।
  • इस प्रकार आप किसान मित्र ऊर्जा योजना के अंतर्गत आवेदन करने में सक्षम हो सकते हैं।

ध्यान दें :- ऐसे ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई नई या पुरानी सरकारी योजनाओं की जानकारी हम सबसे पहले अपने इस वेबसाइट sarkariyojnaa.com के माध्यम से देते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें ।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

Posted by Amar Gupta

🔥🔥 Join Our Group For All Information And Update, Also Follow me For Latest Information🔥🔥

🔥 Follow US On Google News Click Here
🔥 Whatsapp Group Join Now Click Here
🔥 Facebook Page Click Here
🔥 Instagram Click Here
🔥 Telegram Channel Techgupta Click Here
🔥 Telegram Channel Sarkari Yojana Click Here
🔥 Twitter Click Here
🔥 Website  Click Here

FAQ मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना 2022

✔️ mukhymantri Kisan Mitra urja Yojana 2022 क्या है?

इस योजना को हमारे राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा 9 जून को आरंभ किया गया है मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के माध्यम से सभी प्रदेश के मीटर की प्रक्रिया है और उस सभी उपभोक्ताओं को बिजली के बिल पर अनुदान दिया जाएगा और यह अनुदान की राशि प्रतिमा अधिकतम ₹1000 एवं अधिकतम प्रतिवर्ष ₹12000 दिए जाएंगे और इस योजना के अंतर्गत जो भी पात्र की होता है और विद्युत वितरण निगम के द्वारा दुई मासिक बिलिंग व्यवस्था के आधार पर बिजली का बिल जारी किया जाएगा बिजली की बिल कि 60 परतिशत राशि अनुपातिक आधार पर प्रतिमा देती है और यह राशि अधिकतम ₹1000 प्रतिमाह होती है मुख्यमंत्री किसान मित्र उर्जा योजना लाभ सभी किसान उपभोक्ता घुमा इस मिला हमको जाएगा इस योजना की कार्यांवित के लिए सरकार के द्वारा 1450 करोर रुपए खर्च किए जाएंगे|

✔️ कितने किसानों को पहुंचाया जाएगा इस योजना का लाभ?

राजस्थान सरकार के द्वारा किसानों के लिए विभिन्न प्रकार के योजनाओं को संचालित किया जा रहा है। जिसमें से एक किसान मित्र ऊर्जा योजना भी है जिस का संचालन राजस्थान सरकार के द्वारा किया जाता है इस योजना के माध्यम से अब तक किसानों को लाख किसानों को लाभ पहुंचाया जाएगा और जिसमें के लिए सरकार के द्वारा 747. 30 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं इस योजना के कारण वश लगभग 7.30 लाख किसानों को बिजली का बिल सुनय हो गया है इस बात की जानकारी सरकार की ओर से ट्वीट के जरिए दी गई है कोरोना का हाल के दौरान किसानों को कई प्रकार से समस्याओं का सामना करना पड़ा था इसी बात को ध्यान में रखते हुए राजस्थान के सरकार के द्वारा मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना को आरंभ करने की घोषणा की गई थी सरकार के द्वारा इस योजना को 17 जुलाई को लॉन्च किया गया था|

✔️ 600000 किसानों को पहुंचा योजना का लाभ कैसे?

राजस्थान के ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी के द्वारा 24 मार्च 2022 को यह जानकारी दिया गया है कि प्रदेश में मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का संचालन किया जा रहा है जिसके माध्यम से प्रतिमाह किसानों को बिजली बिल में एक हजार रुपए की छूट दी जा रही है अब तक इस योजना के माध्यम से 600000 किसानों को लाभ दिया गया है और इसके अलावा उनके द्वारा यह भी जानकारी मिली है कि इस वर्ष 100 यूनिट तक बिजली का उपयोग करने वाले घरेलू विद्युत उपभोक्ताओं को 50 यूनिट तक बिजली निशुल्क दी जाएगी और इसके अलावा समस्त घरेलू उपभोक्ताओं को 150 यूनिट तक उपयोग भर ₹3 प्रति यूनिट का अनुदान और डेढ़ सौ से 300 यूनिट के उपयोग करने पर ₹2 प्रति यूनिट दिया जाएगा

✔️ मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का उद्देश्य क्या है?

mukhymantri Kisan Mitra urja Yojana 2022 इसका मुख्य उद्देश्य है कि किसानों को बिजली के बिल पर अनुदान दिया जाएगा यह योजना के माध्यम से किसानों को बिजली के बिल पर अधिकतम भाग जा रुपए प्रतिमा अनुदान दिया जाएगा जिससे कि किसान उपभोक्ता अपने बिल का भुगतान करने में सहायता प्राप्त होगी इसके लिए और इसके अलावा मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के माध्यम से किसानों को बिजली की बचत करने के लिए भी प्रोत्साहित किया जाएगा जिससे कि इसके लिए यदि किसान का बिल हजार रुपए प्रति माह से कम आता है तो इस स्थिति में बिल की राशि एवं अनुदान राशि के बीच का अंतर लाभार्थी के खाते हस्तांतरित किया जाएगा।

✔️ वर्ष 2021-22 के बजट में क्या की गई घोषणा?

राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा वर्ष 2021 से 22 के बजट की घोषणा करते समय सामान्य श्रेणी के ग्रामीण कृषि उपभोक्ताओं को प्रति माह ₹1000 और प्रति वर्ष ₹12000 अनुदान राशि दिया जाएगा और घोषणा की गई थी यह घोषणा केवल उन्हीं की रिसीव वक्ताओं के लिए की गई थी जिनका भील मीठी रिंग से आता है इस घोषणा को ध्यान में रखते हुए विद्युत वितरण निगम के द्वारा ₹750 का प्रावधान टैरिफ सब्सिडी मध्य में भी शामिल किया गया था यह प्रावधान अनुदान राशि हस्तांतरण के लिए निर्धारित किया गया है।

Leave a Comment