WhatsApp Share Telegram
Advertisements

Doodh Ganga Yojana 2023 Loan: Get Up to ₹5 Lakh for Dairy Farming!

Ravi Bhushan Ray
19 Min Read

doodh ganga yojana,doodh ganga yojna bihar,maharastra,hariyana,दूध गंगा योजना 2023 के अंतर्गत आवेदन कैसे करें

Advertisements

doodh Ganga Yojana apply online 2023, application form for HP dairy farming business loan दूध गंगा योजना ऑनलाइन आवेदन doodh Ganga Yojana eligibility and benefits जैसा की आप सभी किसान भाइयों जानते होंगे कि दूध डेयरी खोलने के लिए कुछ पैसों की जरूरत पड़ती है और इतने पैसे बहुत किसानों के पास नहीं होते हैं और हम आपको यह बता दे कि अब आप भी दूध डेरी फॉर्म खोल सकते हैं और इससे अच्छी खासी आमदनी कर सकते हैं और पैसे कमा सकते हैं और आपके लिए हम यह बता दे कि सरकार के द्वारा अब दूध गंगा योजना के अंतर्गत सभी जो भी आप दूध की डेरी अगर खोलना चाहते हैं तो आपके लिए योजना के अंतर्गत आपको लोन दिया जाएगा तो हम आपको यह बता दें कि यह फार्म बिजनेस लोन के लिए आवेदन कैसे करेंगे और कहां से करेंगे |

Contents
दूध गंगा योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए महत्वपूर्ण जानकारीइन लोगों को मिलेगा लोन जाने इसके बारे मे doodh Ganga Yojana 2023इस योजना मे किया गया परिवर्तन doodh Ganga Yojana 2023 के अंतर्गत लोन का विवरण इस प्रकार से किया जाएगादूध गंगा योजना के अंतर्गत दी जाने वाली सब्सिडीस्वयं सहायता समूह को 50 परसेंट ब्याज दर में छूटपरदेश में देरी फॉर्म और प्रशिक्षण हेतु एक केंद्र को किया जाएगा स्थापितdoodh Ganga Yojana 2023 का उद्देश्यये किया जाएगा बदलाव आधुनिक मशीन का किया जाएगा उपयोग हिमाचल प्रदेश दूध गंगा योजना 2023 के लाभ और उसके विशेषताएंइस योजना के अंतर्गत दिया जाएगा किसको कितना सब्सिडी doodh Ganga Yojana 2023 के अंतर्गत आवेदन करने की पात्रतादूध गंगा योजना 2023 के अंतर्गत आवेदन कैसे करेंसारांशFAQ Questions Related Doodh Ganga Yojana 2023
doodh ganga yojana,doodh ganga yojna bihar,maharastra,hariyana,दूध गंगा योजना 2022 के अंतर्गत आवेदन कैसे करें

दूध गंगा योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए महत्वपूर्ण जानकारी

हम आपको यह बता दे कि हिमाचल प्रदेश सरकार अपने राज्य में दूध उत्पादन व्यवसाय को बढ़ाने के लिए बहुत सारे प्रयास करते रहते हैं और जिसके लिए दूध व्यवसाय क्षेत्र से जुड़े सभी पशुपालक और दूध उद्यमी को बहुत सारे लाभ देते रहते हैं जैसे कि आपको बता दें कि सन 2010 में एक ऐसा योजना को संचालित किया गया जिसके अंतर्गत सभी दूध व्यवसाय करने वाले सभी किसानों को दूध का व्यवसाय और करने के लिए उसको लोन दे रही है जिसका नाम दूध गंगा योजना है हम आपको बता दें कि यह दूध गंगा योजना के माध्यम से जितने भी उत्पादन कार्य से जुड़े सभी नागरिक हैं उन सभी नागरिकों को 3000000 रूपए तक का लोन बहुत कम ब्याज की दर पर सरकार के द्वारा दिया जाता है | doodh ganga yojana,doodh ganga yojna bihar,maharastra,hariyana,दूध गंगा योजना 2023 के अंतर्गत आवेदन कैसे करें

इन लोगों को मिलेगा लोन जाने इसके बारे मे 

सरकार के द्वारा इसलिए दिया जाता है क्योंकि जो भी छोटे डेरी फार्मिंग के संगठित विकसित डेयरी व्यवसाय में बदला जा सके और उसे बड़ी व्यवसाय बनाने के लिए सरकार ने हिमाचल प्रदेश के सभी नागरिक को दूध गंगा योजना 2023 से संबंधित सभी जानकारी हम आपको अपने इस आर्टिकल के जरिए दे रहे हैं कि इसमें दूध गंगा योजना के अंतर्गत लोन लेना चाहते हैं तो आप यह जानकारी आपको पता होना चाहिए और आपको हम बता दें कि इसके लिए आवेदन करने के लिए आपको इस की पात्रता इसकी आवश्यकता और इसके दस्तावेज और आवेदन की प्रक्रिया सभी के बारे में हमको पता होना चाहिए तो हम आपको यह बता दे कि आपको हम अपने इस आर्टिकल के अंतर्गत आपको हम अपने इस आर्टिकल में सभी जानकारी दे रहे हैं जिससे आप भी दूध गंगा योजना के अंतर्गत लोन लेने के लिए आवेदन कर सकें|

doodh Ganga Yojana 2023

हम आपको यह बता दे कि दूध गंगा योजना को हिमाचल प्रदेश के सरकार के द्वारा अपने राज्य में दूध उत्पादन के क्षेत्र को बढ़ाने के लिए सभी किसानों पशुपालकों और दुग्ध उद्यमी को सरकार के द्वारा ₹3000000 तक का लोन दिया जाएगा और उन सभी को यह लोन कम ब्याज पर दिया जाएगा हम आपको यह बता दें कि यह दूध गंगा योजना के अंतर्गत सभी किसानों को लोन दिया जाएगा जिस का आरंभ इस योजना का आरंभ 2010 ईस्वी में भारत सरकार के पशुपालन विभाग द्वारा डेयरी बढ़ाने के लिए और राष्ट्र कृषि और ग्रामीण विकास बैंक के माध्यम से इसे आरंभ किया गया था और हम आपको यह बता दे कि शुरुआती दौर में तो दूध गंगा योजना का नाम दूध गंगापुर योजना रखा गया था लेकिन आपको यह बता दे कि इसमें पहले ब्याज मुक्त ऋण देने का प्रावधान था|

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

इस योजना मे किया गया परिवर्तन 

लेकिन आप इसको परिवर्तन किया गया और परिवर्तन कर कर इसमें अब ब्याज मुक्त देने का प्रावधान को हटा दिया गया है और अब सभी किसानों को कम ऋण पर ब्याज लिया जाएगा यह दूध गंगा योजना का परिवर्तन इसलिए किया गया क्योंकि सरकार को इसके माध्यम से अब ब्याज मुक्त ऋण देने के बदले ऋण राशि पर सब्सिडी दी जाएगी और हम आपको बता दें कि या हिमाचल प्रदेश को बेरोजगारी को खत्म करने के लिए सरकार के द्वारा यह निर्णय लिया गया है और सरकार ने सभी को एक रोजगार देने के लिए इसके बारे में सोचा था यही के लिए वह सभी को दूध गंगा योजना के अंतर्गत लोन देकर एक अच्छी व्यवसाय खुलवाना चाहते हैं| doodh ganga yojana,doodh ganga yojna bihar,maharastra,hariyana,दूध गंगा योजना 2023 के अंतर्गत आवेदन कैसे करें

Advertisements

doodh Ganga Yojana 2023 के अंतर्गत लोन का विवरण इस प्रकार से किया जाएगा

हम आप सभी किसानों को या बता दे कि जिस के पास दूध से लेकर दस दुधारु गाय हैं तो सभी पशुपालन किसानों को 5 लाख तक का लोन दिया जाएगा

  • ✔️ उन किसानों को जिनके पास 5 से 20 बछरा पालन करने के लिए 4.3 लाख रुपया का लोन दिया जाएगा
  • ✔️ जो वर्मी कंपोस्ट दुधारु गायों के साथ जुड़ा होगा तुम उन्हें ₹20000 का लोन दिया जाएगा
  • ✔️ दूध दोने की मशीन मिलते स्टॉप अरे दूध कूलर इकाई के लिए सरकार के द्वारा 18 लाख उसके लोन दिया जाएगा
  • ✔️ दुध से देसी उत्पाद बनाने के लिए 1200000 रुपए तक का लोन दिया जाएगा
  • ✔️  दूध उत्पादों की धुलाई और कोल्ड चैन सुविधा हेतु 24 लाख रुपए तक का लोन पशुपालकों के लिए दिया जाएगा
  • ✔️ निजी पशु चिकित्सा इकाइयों के लिए ऋण व्यवस्था कुछ इस प्रकार है
  • ✔️  मोबाइल इकाइयों के लिए 2.40 लाख रुपया का लोन दिया जाएगा
  • ✔️ अस्थाई इकाई के लिए 1.80 लाख रुपया का लोन दीया जाएगा
  • ✔️ दूध उत्पाद को बेचने के लिए बूथ निर्माण के लिए 0.56 लाख रुपए तक का लोन सरकार के द्वारा सभी किसान को जोड़ा जाएगा और पशुपालकों को लोन दिया जाएगा|

दूध गंगा योजना के अंतर्गत दी जाने वाली सब्सिडी

हिमाचल प्रदेश दूध गंगा योजना के अंतर्गत जो भी दूध का बिजनेस करने वाले किसान है उनको कम ब्याज पर लोन दिया जाता है और यह लोन की राशि पर सरकार के द्वारा सभी लाभार्थियों को सब्सिडी भी दी जाती है और यह सब्सिडी राशि के लिए विभिन्न पर आधारित होती है जो कि एसटी और एससी वर्ग के सभी जो भी लाभार्थी होते हैं उसको 33 परसेंट और जो सामान्य वर्ग और के लाभार्थी को 25% दी जाती है और उसके साथी हम आपको बता दें कि राज्य सरकार की तरफ से अतिरिक्त सब्सिडी दी जाती है जो कि देसी गाय या भैंस खरीदने पर 20 परसेंट और जर्सी गाय खरीदने प 10% की सब्सिडी दी जाती है |

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

स्वयं सहायता समूह को 50 परसेंट ब्याज दर में छूट

और सरकार के द्वारा स्वयं सहायता समूह को 10 पशुओं की डेरी फॉर्म को खोलने के लिए दूध गंगा योजना 2023 के अंतर्गत तीन लाख तक का लोन दिया जाता है और इस लोन पर उन्हें 50 परसेंट तक ब्याज की दर में छूट दिया जाता है और स्वयं सहायता समूह को केवल डेढ़ लाख रुपया के ही लोन पर ब्याज दर का भुगतान करवा दिया जाता है और हम आप सभी को यह बता दें कि स्वयं सहायता समूह के जो भी लोग होते हैं और उसके अतिरिक्त ब्याज की दर में इसलिए दी जाती है क्योंकि राज्य के अधिक से अधिक स्वयं सहायता समूह के गुणवत्तापूर्ण डेरी फॉर्म स्थापित करने के लिए उन्हें भी प्रोत्साहित कर दिया जा सके |

परदेश में देरी फॉर्म और प्रशिक्षण हेतु एक केंद्र को किया जाएगा स्थापित

जैसा कि हमारे मत्स्य पालन पशुपालन मंत्री सुरेंद्र कुंवर जी ने यह कहा की अब दूध गंगा योजना 2023 के अंतर्गत हिमाचल प्रदेश में फॉर्म को अधिकरण करने के लिए डेरी फॉरम शिक्षण के लिए एक और केंद्र को स्थापित किया जाएगा और और उन्होंने यह भी बताया है कि केंद्र सरकार ने राज्य के अनेक स्थानों पर आधुनिक डेयरी फॉर्म और प्रशिक्षण केंद्र के निर्माण करने के लिए मंजूरी भी दी गई है और इस केंद्र के माध्यम से बनाए जाने वाले डेरी फॉर्म में जो आधुनिक मशीनों का 400 दुधारू पशु को रखने के लिए सुविधा भी दी जाएगी और इसके अलावा इन सभी फलों में पशु चिकित्सक अधिकारी और अन्य कर्मचारियों को भी प्रशिक्षण दिया जाएगा जिससे वह पशुपालन में किसानों की अधिक से अधिक सहायता कर सकें | doodh ganga yojana,doodh ganga yojna bihar,maharastra,hariyana,दूध गंगा योजना 2023 के अंतर्गत आवेदन कैसे करें

doodh Ganga Yojana 2023 का उद्देश्य

हम आप सभी को यह बता दें कि दूध गंगा योजना के अंतर्गत सरकार का यह उद्देश्य है कि इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य हिमाचल प्रदेश के सभी जारी फॉर मी करने वाले जो भी छोटे उद्योग के बड़े डेरी फार्म बिजनेस में बदलना जिसे हमारे राज्य में दूध की कमी न हो सके और इसकी अंतर्गत दूध उत्पादन से सभी जुड़े लोगों को दूध गंगा योजना अंतर्गत 30 लाख का लोन उचित ब्याज पर दिया जाएगा और उसके साथ ही उन्हें आर्थिक सहायता भी की जाएगी इसके लिए सभी को सब्सिडी भी दिया जाएगा |

ये किया जाएगा बदलाव आधुनिक मशीन का किया जाएगा उपयोग 

इस योजना के अंतर्गत हमारे राज्य के सभी दुग्ध उत्पादक क्षेत्रों में से जुड़े सभी लोगों को परंपरागत तकनीकों से छुटकारा दिलाकर जो आधुनिक कार्य में जो तकनीक चल रही है उन से जोड़ना होगा जिसके परिणाम स्वरूप उसमें बहुत अच्छे नस्ल के जो नई नस्ल की दुधारू पशु होंगे उसे तैयार किया जाएगा और इसके जरिए उनसे ज्यादा दूध वितरण होने का संभावना होगी और इसके अलावा दूध गंगा योजना 2023 के अंतर्गत शुरू करने के मुख्य उद्देश्य है कि 10,000 स्वयं सहायता समूह के माध्यम से 50,000 ग्रामीण परिवार को को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाना और उनका कल्याण करना | doodh ganga yojna hariyana  doodh ganga yojana,doodh ganga yojna bihar,maharastra,hariyana,दूध गंगा योजना 2023 के अंतर्गत आवेदन कैसे करें

हिमाचल प्रदेश दूध गंगा योजना 2023 के लाभ और उसके विशेषताएं

हम आप सभी को यह बता दें कि भारत के जितने भी पशुपालन विभाग है और उनके द्वारा दूध गंगा योजना के रूप में हमारे राष्ट्र के जितने भी कृषि और ग्रामीण बैंक के माध्यम से इस योजना को आरंभ किया गया था और इस योजना के हिमाचल प्रदेश के जो छोटे किसान उसका व्यवसाय कर रहे हैं उनको बड़े फार्मिंग व्यवसाय में बदलने के लिए इसको आरंभ किया गया है और हिमाचल प्रदेश दूध गंगा योजना 2023 के अंतर्गत जितने भी दूध उत्पादक है और उनकी कार्य में जो लगे गए 3000000 रूपए तक का जो लोन दिया जाएगा उन सभी लोगों को अलग-अलग काम के लिए अलग अलग तरीके से दिया जाएगा |

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

इस योजना के अंतर्गत दिया जाएगा किसको कितना सब्सिडी 

 उसके साथ ही जो लोन का पैसा रहेगा वह ऐसी और एसटी के जो लाभार्थी रहेंगे उनको 33 परसेंट और जो सामान्य वर्ग के लाभार्थी है उनको 25 परसेंट तक सब्सिडी दिया जाएगा और उसके साथ ही लोन की राशि राज्य सरकार के द्वारा देसी गाय और भैंस खरीदने पर 20 परसेंट और जो किसान जर्सी गाय खरीदेंगे उनको 10 पर्सेंट तक सब्सिडी दिया जाएगा और इस योजना के अंतर्गत जो भी उत्तम नस्ल के दुधारू पशु को तैयार और उनको संरक्षण करने के लिए बछरी पालन को प्रोत्साहित भी किया जाएगा और दूध गंगा योजना के अंतर्गत राज्य के जो भी बेरोजगार किसान है उन सभी को एक अच्छी खासी रोजगार देने की कोशिश किया जाएगा और हमारे राज्य में डेयरी क्षेत्र को अत्यधिक सुविधा प्राप्त हो सकती है और इस योजना के अंतर्गत राज्य के गायों से और पशुओं से 350 लाख लीटर दूध हमारे राज्य में है उत्पादन करने का लक्ष्य को तैयार किया गया है |

doodh Ganga Yojana 2023 के अंतर्गत आवेदन करने की पात्रता

जो भी दूध उत्पादन से जुड़े हुए किसान है उनको हिमाचल प्रदेश का स्थाई निवासी होना अत्यंत जरूरी है और जो व्यक्ति स्वयं सहायता समूह या गैर सरकारी संगठन या दूध संगठन दूध सहकारी जो भी कंपनियां है यह सभी दूध गंगा योजना 2023 के अंतर्गत लाभ उठाने के पात्र हैं आई इसके अलावा अगर परिवार के कोई एक सदस्य भी अपनी अलग अलग जगहों पर अलग-अलग इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो वह भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं लेकिन उनकी स्थापित इकाई वह एक दूसरे से कम से कम 500 मीटर की दूरी होनी चाहिए अन्यथा उनको इस योजना का लाभ नहीं मिल पाएगा | doodh ganga yojana,doodh ganga yojna bihar,maharastra,hariyana,दूध गंगा योजना 2023 के अंतर्गत आवेदन कैसे करें

दूध गंगा योजना 2023 के अंतर्गत आवेदन कैसे करें

  • आप सबको सबसे पहले हिमाचल प्रदेश की department of animal husbandry कि आधिकारिक वेबसाइट है आपको उस वेबसाइट पर जाना होगा |
  • वहां जाने के बाद आपको वेबसाइट के होम पेज खुल कर आपके सामने आएगा और आपको इस वेबसाइट के होम पेज पर आपको दूध गंगा योजना के बारे में जो भी जानकारी है वहां देनी होगी और इसके बाद आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं|doodh ganga yojna up
  • इस तरह आप दूध गंगा योजना के अंतर्गत आवेदन करने में सक्षम हो गए हैं और आप इस तरह से अपना बेरोजगारी को दूर कर सकते हैं और अपने लिए अच्छी रोजगार को और व्यवसाय को आरंभ कर सकते हैं जिससे आपकी आर्थिक स्थिति सुधार सकती है |,doodh ganga yojna up doodh ganga yojna maharastra

सारांश

दूध गंगा योजना आवेदन  मुझे आशा है कि आपको मेरी यह जानकारी पसंद आई होगी। यदि आपको यह जानकारी पसंद आई हो, तो कृपया इसे लाइक करें और अपने दोस्तों, परिवार और ग्रुप के साथ शेयर करें। इससे उन्हें भी यह जानकारी मिलेगी।

sell your old coin,sell your old coin
✔️ डेयरी फार्म खोलने के लिए लोन कैसे लें?

यदि आप छोटा डेयरी फार्म खोलना चाहते हैं, तो आप अपने नजदीकी बैंक में जाकर भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। बैंक में जाने के बाद आपको सब्सिडी फॉर्म को भरकर उसमें आवेदन करना होगा। doodh ganga yojna bihar यदि आवेदक का लोन राशि बड़ी होती है, तो व्यक्ति को नाबार्ड में अपनी प्रोजेक्ट रिपोर्ट को जमा करवाना होगा।

✔️ क्या मुझे डेयरी फार्मिंग के लिए मुद्रा लोन मिल सकता है?

हाँ, यदि आप डेयरी फार्मिंग उद्देश्यों के लिए मुद्रा लोन लेना चाहते हैं, तो आप प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत मुद्रा लोन का लाभ उठा सकते हैं। doodh ganga yojna up यदि आप मत्स्य पालन, पोल्ट्री फार्म, मधुमक्खी पालन, रेशम उद्योग आदि के मालिक हैं या रखना चाहते हैं, तो भी आप मुद्रा लोन का लाभ उठा सकते है |

✔️ डेयरी फार्म शुरू करने के लिए कितने पैसे चाहिए?

हाल के अध्ययनों से पता चलता है कि भारत में एक छोटे पैमाने पर डेयरी फार्म शुरू करने के लिए 10 लाख रुपये से 20 लाख रुपये के बीच कहीं भी राशि की आवश्यकता होती है। दूसरी ओर, बड़े पैमाने पर फार्म शुरू करने के लिए जितनी धनराशि की आवश्यकता होगी, वह आसानी से 1 करोड़ रुपये से अधिक हो सकती है।

✔️ पशुपालन पर कितनी सब्सिडी है?

इस योजना में एसी/एसटी और ओबीसी वर्ग के लाभार्थियों को 75% तक की सब्सिडी प्रदान की जाती है, जबकि महिला लाभार्थी, सामान्य वर्ग के लाभार्थी और अन्य वर्गों को 50% तक की सब्सिडी का प्रावधान है।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Advertisements
Share This Article
Ravi Bhaushan Ray heads Content at Sarkariyojnaa.com. He has 2 years of experience in creating content for academic and professional audiences. He has led editorial teams in Online Media, Academic Books & Journals Publishing, Test Prep, Study Abroad and eLearning. He has postgraduate degrees in Social Sciences and Management and has previously worked with organizations like Wiley India, NIIT Ltd. and SAGE Publishing. He can be reached at ravibhushan@sarkariyojnaa.com Area of Expertise: Content & Strategy, Educational Content, Digital Curriculum Development, eLearning, Test Prep Honors & Awards: Best Editor, Rising Star, Award for Professional Excellence, Collaboration and Innovation Certification: Fact-Checking Fundamentals with IFCN, Content Marketing, Inbound Marketing and Email Marketing - All from HubSpot Academy, Executive Program in Digital Marketing and Applied Analytics - IIT Bombay
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *