विवाह हेतु सरकार देगी 55 हजार रुपये सीधे बैंक खाते में , क्या है विवाह अनुदान योजना ।

Please share this
  •  
  • 255
  •  
  • 236
  • 551
  •  
    1K
    Shares

विवाह हेतु सरकार देगी 55 हजार रुपये सीधे बैंक खाते में , क्या है विवाह अनुदान योजना ।

इस पोस्ट में क्या है ?

सरकार के द्वारा बेटियों की शादी करने के लिए विवाह अनुदान योजना की शुरुआत कर दी गई है जिसके तहत आप की बिटिया की शादी पर सरकार आपको ₹51000 से ₹55000 रुपये की आर्थिक सहायता दे सकती है , चलिए जान लेते हैं विवाह अनुदान योजना क्या है ? और विवाह अनुदान अप्लाई लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे किया जाए ?

विवाह अनुदान योजना

 

विवाह अनुदान योजना?

“विवाह अनुदान योजना” यह योजना राज्य सरकार के द्वारा चलाई जाती है तो हर राज्य में इस योजना का अलग-अलग नाम है आप अपने राज्य के हिसाब से जानकारी ले सकते हैं , हम आपको उत्तर प्रदेश में चलाए जाने वाले विवाह अनुदान योजना के बारे में संपूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं । इस योजना का शुभारंभ उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा किया गया है और इसके अंतर्गत गरीब परिवार की बेटियों की शादी के लिए सरकार ₹51000 देगी ।

इस योजना में लाभ लेने के लिए सरकार ने कुछ नियम और शर्ते रखे हैं चलिए इसके बारे में जान लेते हैं ।

योजना का लाभ लेने के लिए इन नियमों का पालन करना रखा गया है अनिवार्य ।

  1. 1. चुकी यह योजना उत्तर प्रदेश के लिए है इस वजह से आवेदन कर्ता उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना चाहिए । आप अपने राज्य के हिसाब से देख सकते हैं ।
  2. 2. इस योजना के तहत लाभार्थी की वार्षिक आय ग्रामीण क्षेत्र के लिए ₹46800 और शहरी क्षेत्र के लिए ₹56400 से अधिक नहीं होनी चाहिए ।
  3. 3. विवाह अनुदान योजना के लिए आवेदन कर्ता गरीबी रेखा से नीचे का व्यक्ति होना चाहिए ।
  4. 4. इस योजना का लाभ किसी भी जाति के लोग भी ले सकते हैं ।

विवाह अनुदान हेतु आवश्यक दस्तावेज ।

विवाह अनुदान हेतु अगर आप भी ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास निम्नलिखित दस्तावेज होने अनिवार्य हैं

आवश्यक दस्तावेज

  1. 1. आवेदन कर्ता के पास आधार कार्ड होना अनिवार्य है।
  2. 2. आवेदन कर्ता को अपना आय प्रमाण पत्र दिखाना होगा
  3. 3. आवेदन कर्ता के पास पासपोर्ट साइज फोटो होना भी अनिवार्य रखा गया है ।
  4. 4. जिस दंपति की शादी हो रही है उसका आयु प्रमाण पत्र होना आवश्यक है ।
  5. 5. आवेदन कर्ता के पास शादी प्रमाण पत्र होना चाहिए ।
  6. 6. आवेदन कर्ता के पास बैंक का खाता नंबर होना अनिवार्य है ताकि उन्हें अनुदान की राशि सीधे बैंक में मिल सके ।
  7. 7. यदि आवेदक की कैटेगरी OBC/SC/ST हैं तो इनके पास जाति प्रमाण पत्र भी होना आवश्यक है , बाकी अन्य catagory के लिए जाति प्रमाण पत्र अनिवार्य नहीं रखा गया है ।

UTTAR PRADESH SHADI ANUDAN YOJANA HIGHLIGHTS

योजना का नाम शादी अनुदान योजना उत्तर प्रदेश
राज्य उत्तर प्रदेश
लाभार्थी उत्तर प्रदेश की सभी शादी योग्य पात्र लड़की 
उद्देश्य जरूरतमंद को शादी के लिए आर्थिक मदद  प्रदान करना 
किसने लांच किया उत्तर प्रदेश सरकार 
ऑफिसियल वेबसाइट shadianudan.upsdc.gov.in

सरकार विवाह हेतु कितनी अनुदान की राशि देती है और यह किस प्रकार से दी जाती है ।

विवाह अनुदान हेतु सरकार आपको 51 हजार रुपए की धनराशि सामान जाति में विवाह करने के लिए देती है तथा ₹55000 धना राशि अंतरजातीय विवाह के लिए दी जाती है , इसी प्रकार से अगर 11 जोड़ों का सामूहिक विवाह होता है तो इस स्थिति में ₹5000 प्रति जोरे के हिसाब से दी जाती है । यह पैसा सरकार सीधे आवेदक के खाते में भेजती हैं ।

विवाह अनुदान हेतु ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया ।

  • 2. वेबसाइट पर पहुंचने के बाद नए पंजीकरण पर आपको क्लिक करना होगा , आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आप किस जाति के लिए आवेदन करना चाहते हैं सामान्य, सुचित जाति, अनुसूचित जाति, पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक कि जो भी श्रेणी है वह आपको चुनना होगा ।
  • 3. अब आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल जाएगा जिसमें आपको अपनी सभी जानकारी ध्यानपूर्वक और सही-सही भरनी है । फॉर्म कुछ इस प्रकार का होगा जैसा नीचे दिखाया गया है ।

विवाह अनुदान योजना

  • 4. जैसे ही आप ऑनलाइन फॉर्म को सही से भर लेते हैं आपको जमा करें पर क्लिक करना होगा जिसके बाद आपका फॉर्म उत्तर प्रदेश सरकार के पास पहुंच जाएगा ।
  • 5. जैसे ही आप फॉर्म को सबमिट करें पर क्लिक करते हैं ध्यान रखना है कि इस फॉर्म के प्रति कॉपी को आपको प्रिंट कर रख लेना है , और इस प्रिंट किए गए प्रति कॉपी को आपको संबंधित जनपद के जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी कार्यालय में जाकर जमा कर इसकी रसीद प्राप्त कर लेनी है , ऑफलाइन फॉर्म जिला कल्याण विभाग में जमा करना आपके लिए अनिवार्य है ।

विवाह अनुदान योजना हेतु कुछ आवश्यक जानकारियां

  1. 1. इस योजना हेतु वृद्धावस्था, विकलांग, विधवा लाभार्थी आय प्रमाण पत्र दर्ज करना आवश्यक नहीं है , इस योजना में आवेदन के लिए लाभार्थी अपना रजिस्ट्रेशन नंबर भर सकते हैं ।
  2. 2. विवाह अनुदान हेतु आवेदन शादी के दिनांक से 90 दिन पहले ही स्वीकार की जाएगी , या शादी के 90 दिन बाद तक स्वीकार किया जाएगा ।
  3. 3. विवाह अनुदान हेतु आवेदन में लड़की की आयु 18 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए तथा पुरुष की आयु 21 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए ।
  4. 4. विवाह अनुदान हेतु एक परिवार अपनी दो पुत्रियों के लिए ही आवेदन कर सकता है , दो पुत्री से अधिक के लिए अनुदान अमान्य होगा ।

नोट:- विवाह अनुदान योजना इस पोस्ट के माध्यम से केवल उत्तर प्रदेश के लिए ही बताई गई है, हम आपकी जानकारी के लिए बताना चाहेंगे कि हर राज्य के अंतर्गत बेटी की शादी के लिए कोई न कोई योजना चलाई जाती है आपके राज्य में इस योजना का नाम कुछ अलग हो सकता है आप इसकी जानकारी ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं ।

FAQ Vivaha Anudan yojana

विवाह अनुदान योजना क्या है ?

राज्य सरकार के द्वारा गरीब परिवार जो आर्थिक रूप से बहुत पिछड़े हुए हैं उनकी बेटियों के विवाह के लिए एक प्रोत्साहन राशि दी जाती है इस राशि को पाने के लिए आवेदन सरकार विवाह अनुदान योजना के अंतर्गत लेती है ।

शादी अनुदान योजना सरकार के द्वारा बालिकाओं को सशक्त बनाने उनके शैक्षणिक स्तर को ऊपर उठाने तथा उनकी शादी में मदद करने के उद्देश्य से शुरू की गई है ।

विवाह अनुदान योजना में कितना पैसा मिलता है ?

शादी अनुदान के अंतर्गत अनुदान के तौर पर दी जाने वाली राशि आपकी जाति के आधार पर निर्भर करता है ।

साथ ही अनुदान की राशि आपके राज्य सरकार के ऊपर भी निर्भर करता है वैसे उत्तर प्रदेश में विवाह अनुदान योजना के अंतर्गत बालिका प्रोत्साहन राशि ₹55000 दी जाती है ।

प्रधानमंत्री बालिका अनुदान योजना क्या है ?

प्रधानमंत्री बालिका अनुदान योजना केंद्र सरकार की योजना है जो बालिकाओं को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार के द्वारा लांच की जाएगी । इस योजना के तहत बालिका के विवाह पर सरकार ₹50,000 का आर्थिक सहायता प्रदान करेगी ।

बालिका अनुदान योजना के लिए कौन पात्र है ? 

प्रधानमंत्री बालिका अनुदान योजना के लिए वैसे सभी बालिका पात्र हैं जिनकी विवाह की उम्र हो चुकी है और जिनके परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर हैं साथ ही बीपीएल वर्ग के परिवार भी इसके तहत लाभार्थी हैं ।

अनुदान योजना के तहत सरकार कितना अनुदान देती है और यह अनुदान कितनी बालिकाओं के लिए होता है ?

बालिका अनुदान योजना (pradhanmantri balika anudan Yojana) के तहत वैसे तो एक ही बालिका पात्र होती है जिस को ₹50000 का अनुदान विवाह के समय दिया जाता है लेकिन कुछ विशेष स्थिति में दो पुत्री(बालिका) जो एक ही परिवार से हैं उनको भी लाभ दिया जा सकता है ।

ध्यान दें :- ऐसी ही जानकारी हम रोजाना अपनी वेबसाइट sarkariyojnaa.com के माध्यम से देते हैं तो आप हमारी वेबसाइट को फॉलो जरूर करें , अगर आपको यह जानकारी पसंद आई है तो इसे लाइक और शेयर करना बिल्कुल भी ना भूलें ।

इस आर्टिकल को अंदर तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

Posted by Amar Gupta


विवाह अनुदान योजना क्या है ?

राज्य सरकार के द्वारा गरीब परिवार जो आर्थिक रूप से बहुत पिछड़े हुए हैं उनकी बेटियों के विवाह के लिए एक प्रोत्साहन राशि दी जाती है इस राशि को पाने के लिए आवेदन सरकार विवाह अनुदान योजना के अंतर्गत लेती है ।
शादी अनुदान योजना सरकार के द्वारा बालिकाओं को सशक्त बनाने उनके शैक्षणिक स्तर को ऊपर उठाने तथा उनकी शादी में मदद करने के उद्देश्य से शुरू की गई है ।

विवाह अनुदान योजना में कितना पैसा मिलता है ?

शादी अनुदान के अंतर्गत अनुदान के तौर पर दी जाने वाली राशि आपकी जाति के आधार पर निर्भर करता है ।
साथ ही अनुदान की राशि आपके राज्य सरकार के ऊपर भी निर्भर करता है वैसे उत्तर प्रदेश में विवाह अनुदान योजना के अंतर्गत बालिका प्रोत्साहन राशि ₹55000 दी जाती है ।

प्रधानमंत्री बालिका अनुदान योजना क्या है ?

प्रधानमंत्री बालिका अनुदान योजना केंद्र सरकार की योजना है जो बालिकाओं को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार के द्वारा लांच की जाएगी । इस योजना के तहत बालिका के विवाह पर सरकार ₹50,000 का आर्थिक सहायता प्रदान करेगी ।

बालिका अनुदान योजना के लिए कौन पात्र है ? 

प्रधानमंत्री बालिका अनुदान योजना के लिए वैसे सभी बालिका पात्र हैं जिनकी विवाह की उम्र हो चुकी है और जिनके परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर हैं साथ ही बीपीएल वर्ग के परिवार भी इसके तहत लाभार्थी हैं ।

अनुदान योजना के तहत सरकार कितना अनुदान देती है और यह अनुदान कितनी बालिकाओं के लिए होता है ?

विवाह अनुदान ऑनलाइन आवेदन (pradhanmantri balika anudan Yojana) के तहत वैसे तो एक ही बालिका पात्र होती है जिस को ₹50000 का अनुदान विवाह के समय दिया जाता है लेकिन कुछ विशेष स्थिति में दो पुत्री(बालिका) जो एक ही परिवार से हैं उनको भी लाभ दिया जा सकता है ।


Please share this
  •  
  • 255
  •  
  • 236
  • 551
  •  
    1K
    Shares
  •  
    1.4K
    Shares
  •  
  • 425
  • 205
  •  
  • 250
  • 530
  •  
Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

जरुरी सूचना

दोस्तों, हमारी वेबसाइट (sarkariyojnaa.com)सरकार द्वारा चलाई जाने वाली वेबसाइट नहीं है,ना ही किसी सरकारी मंत्रालय से इसका कुछ लेना देना है | यह ब्लॉग किसी व्यक्ति विशेष द्वारा, जो सरकारी योजनाओं में रुचि रखता है और औरों को भी बताना चाहता है, द्वारा चलाया गया है | हमारी पूरी कोशिश रहती की एकदम सटीक जानकारी अपने पाठकों तक पहुंचे जाए लेकिन लाख कोशिशों के बावजूद भी गलती की सम्भावना को नकारा नहीं जा सकता| इस ब्लॉग के हर आर्टिकल में योजना की आधिकारिक वेबसाइट की जानकारी दी जाती है| हमारा सुझाव है कि हमारा लेख पढ़ने के साथ साथ आप आधिकारिक वेबसाइट से भी जरूर जानकारी लीजिये | अगर किसी लेख में कोई त्रुटि लगती है तो आपसे आग्रह है कि हमें जरूर बताएं |

हम अपने ब्लॉग के माध्यम से रजिस्ट्रेशन नहीं करवाते ना ही कभी भी पैसे कि मांग करते हैं | हमारा उद्देश्य है केवल आप तक सही जानकारी पहुँचाना !