UIDAI को चेतावनी CSC के VLE करेंगे हड़ताल

Please share this
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

UIDAI की मनमानी को देखते हुए सीएससी संचालक अपने हक के लिए UIDAI के खिलाफ धरने की तैयारी में है और वह जल्दी यूआइडीएआइ के खिलाफ धरना रख सकते हैं |

इस पोस्ट में क्या है ?

CSC WILL CONTINUE PROVIDING AADHAR CARD WORK

CSC संचालक आखिर ऐसा क्यों करेंगे :- बता देते हैं कि भारत में ग्रामीण इलाकों में सरकार की किसी भी से आम हिंदुस्तानी ग्राहकों तक, आम हिंदुस्तानी उपभोक्ताओं तक हचाने के लिए CSC का ही सहारा लिया जाता है, जो कि VLE के द्वारा संचालित की जाती है,

VLE वह व्यक्ति होता है जो सारी कठिनाइयों का सामना करते हुए भी आम लोगों को योजना के बारे में समझाता है ,योजना के तहत जोड़ता है, और उन्हें उसका लाभ भी दिलाता है |

बात करते हैं आधार कार्ड की, आप सभी को पता है भारत में आधार कार्ड की अनिवार्यता के बारे में, आधार कार्ड को जब भारत में लागू किया गया था तो बहुत सारे लोगों को इसके तहत जोड़ना था, यानी बहुत सारे लोगों का नया आधार कार्ड बनवाना था,CSC की सहायता से VLE के द्वारा 27 करोड़ लोगों का आधार कार्ड बनाया गया |

जो व्यक्ति ने UIDAI आधार कार्ड की नीव को रखने आज वही परेशान है |

क्या है CSC के VLE परेशानी :- आधार की शुरुआत में यही व्यक्ति अपने जेब से लाख से डेढ़ लाख रुपए लगाकर आधार KIT  की खरीद कर लोगों का नया आधार नामांकन का काम करा करते थे , आज UIDAI ने इन्हें  ब्लैक लिस्ट कर दिया ,यह बेईमान और चोर है, कुछ लोगों की गलती के कारण 300000 से भी अधिक VLE को इसका सामना करना पड़ा और उन्हें ना चाहते हुए भी आधार कार्ड बनाने का काम छोड़ना पड़ा |

UIDAI का कहना क्या था ;-UIDAI ने यह कह कर VLE से आधार का काम ले लिया कि वह लोगों से OVER CHARGE करते हैं और सुचारू रूप से,दस्तावेज किए बिना आधार कार्ड बना देते हैं इसी बात पर सीएससी के सीईओ डॉ दिनेश त्यागी जी का कहना है “कि हाथों की पांच उंगलियां एक समान नहीं होती है” कुछ VLE के गलती के कारण आप हमारे 300000 VLE को इसकी सजा नहीं दे सकते हैं |

CSC को आधार का काम ना देकर अपनी खुद की आधार सेवा केंद्र प्लानिं कर रही है, जो कि सीएससी के साथ और VLE  के साथ कहीं ना कहीं धोखा है, इसी पर CSC ने नाराजगी जताई है , और हड़ताल करने की सोच रही है |

CSC क्या करती है :- सीएससी ग्रामीण लोगों को हर प्रकार की सरकारी सेवाएं मुहैया कराती है, और जैसा की सुप्रीम कोर्ट की अनिवार्यता के बाद आप है सरकारी सेवाओं को प्रदान करने के लिए आधार कार्ड अभी भी जरूरी है, अर्थात सीएससी संचालकों के लिए आधार का कार्य ज्यादा महत्वपूर्ण भूमिका रखता है, आधार कार्ड बनाना ही ऐसा कार्य था जिससे VLE की रोटी कमाई जा सकती थी जो कि नहीं रही |

UIDAI

अगर यूआइडीएआइ सीएससी को पुण: आधार कार्ड बनाने का कार्य नहीं देती,CSC के संचालक प्रकार की सरकारी से को अपने सीएससी सेंटर उपलब्ध नहीं कराएंगे और लोगों को किसी भी प्रकार की सेवा मुहैया नहीं करेंगे |

यूआइडीएआइ ने इस पर नाराजगी जताते हुए कहा कुछ भी नहीं किया जाएगा सीएससी के सीईओ डॉ दिनेश कुमार त्यागी जी ने कहां की सीएससी सेंटर डिजिटल भारत की नीव है, आयुष्मान भारत, डिजिटल ड्राइविंग लाइसेंस, डिजिटल इंडिया जैसे कार्य सीएससी के माध्यम से ही किए जाते हैं, अर्थात सीएससी को आधार का काम भी देना ही होगा |

जबकि यूआईडीएआई ने कहा कि हाल ही में एक निर्णय – बिनोय विस्वम मामले में – नामांकन / अपडेशन सेवाओं की एक स्थानांतरण आवश्यक है, त्यागी से इनकार किया इस तरह के एक आदेश है कि सीएससी को हटाने का प्रयास है। सूत्रों का कहना है ने कहा कि आईटी मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों, मंत्री रवि शंकर प्रसाद सहित दरार के बारे में बताया जा रहा है।


Please share this
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Previous Article
Next Article

4 Replies to “UIDAI को चेतावनी CSC के VLE करेंगे हड़ताल”

  1. ABID ALI

    GOOD NEWS FOR CSC VLE KE LIYE HAM CSC KE SATH HAI UIDAI KE KILAFH HADTAL KAREGE.
    MAI CSC SE SUPERVISOR HUN AUR UP KE MAHOBA DISTRICT KE BHARWARA VILLAGE PANCHAYAT SE BELONG KARTA HUN

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

🔥🔥 Join Our Group For All Information And Update, Also Follow me For Latest Information🔥🔥
🔥 Facebook Page  Click Here
🔥 Instagram  Click Here
🔥 Telegram Channel Techgupta  Click Here
🔥 Telegram Channel Sarkari Yojana  Click Here
🔥 Twitter  Click Here
🔥 Website   Click Here

जरुरी सूचना

दोस्तों, हमारी वेबसाइट (sarkariyojnaa.com)सरकार द्वारा चलाई जाने वाली वेबसाइट नहीं है,ना ही किसी सरकारी मंत्रालय से इसका कुछ लेना देना है | यह ब्लॉग किसी व्यक्ति विशेष द्वारा, जो सरकारी योजनाओं में रुचि रखता है और औरों को भी बताना चाहता है, द्वारा चलाया गया है | हमारी पूरी कोशिश रहती की एकदम सटीक जानकारी अपने पाठकों तक पहुंचे जाए लेकिन लाख कोशिशों के बावजूद भी गलती की सम्भावना को नकारा नहीं जा सकता| इस ब्लॉग के हर आर्टिकल में योजना की आधिकारिक वेबसाइट की जानकारी दी जाती है| हमारा सुझाव है कि हमारा लेख पढ़ने के साथ साथ आप आधिकारिक वेबसाइट से भी जरूर जानकारी लीजिये | अगर किसी लेख में कोई त्रुटि लगती है तो आपसे आग्रह है कि हमें जरूर बताएं |

हम अपने ब्लॉग के माध्यम से रजिस्ट्रेशन नहीं करवाते ना ही कभी भी पैसे कि मांग करते हैं | हमारा उद्देश्य है केवल आप तक सही जानकारी पहुँचाना !