ज्वाइन करे टेलीग्राम ग्रुप

Join Our Group
Join Telegram
WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

KISAN YOJANA: Agriculture Farm Bill PDF, किसान कृषि बिल क्या है?



|| pm kisan yojana, kisan samman nidhi yojana, pm kisan nidhi yojana, kisan samman yojana, kisan yojana ||

शिरोमणि अकाली दल ‘शीअड‘ की नाराजगी भाजपा से सिर्फ किसानों के मुद्दे पर ही नहीं थी बल्कि वही आरसी से केंद्र सरकार ने अपनी उपेक्षा से नाराज था। यदि पिछले एक-दो साल की राजनीतिक घटनाक्रम पर बात की जाए तो करीब हम आधा दर्जन ऐसे मौके आए जब सियाज को अपने बड़े सहयोगी से अपेक्षित सहयोग नहीं मिल रहा था। यह भी कहा जा रहा था कि शिअद की सुनवाई नहीं होने वाली है। हां, किसानों से संबंधित मौजूदा कानूनों को लेकर अकाली दल को राज्य से अलग होने का निर्णय फैसला लेने का विवाद या होना पड़ा।

Agriculture Farm Bill PDF, Kisan Bill

इसी महीने के अंदर सरकार ने कश्मीरी टेकरी तथा हिंदी की कश्मीरी की आधिकारिक भाषाओं में शामिल किए गए अकाली दल चाहता था कि इस पंजाबी को शामिल किया ( krishi Bill  ) जाए कश्मीरी में कश्मीरी में पंजाबी बोलने वाले ज्यादातर लोग हैं तथा यह राज्य की पुरानी भाषा है। बादल ने इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ( Modi News ) के द्वारा ( Krishi vibhag )  और अमित शाह को भी लिखा लेकिन सुनवाई नहीं हुआ। वरिष्ठ नेता नरेश गुर्जर लाल कहते कि यह छोटी सी बात थी। तर्कसंगत अनुपात थी। लेकिन सरकार अभी तक नहीं माना।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

Krishi vibhag , Modi News , Kisan yojana

यह भी पढ़ें: Pm Kisan Samman Nidhi Yojana – किसान भाइयों को अब हर साल मिलेगा पूरे ₹10000 ऐसे उठाई लाभ

पिछले साल संसद के मानसून सत्र में सरकार ने अकाली दल से विरोध के बावजूद अंतर राज्य और नदी जल विवाद ’संशोधन’ विधायक को लोकसभा से पारित कर लिया गया। इसमें ( Krishi vibhag ) जल विवादों का तय समय के भीतर निपटाने का प्रधान है। अकाली दल को लगता है कि इसके पंजाब के हिस्से का पानी अन्य राज्य को जा सकता है ऐसे ले विधायक अभी राज्यसभा को दूसरे कारण से लंबित कर रहे हैं।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

नाराजगी का तीसरा कारण हरियाणा में शिअद की एक मात्रा एमएलए का भाजपा में शामिल होने हैं नाराजगी का तीसरा कारण हरियाणा में शिअद की एक मात्रा एमएलए का भाजपा में शामिल होना है। सिएट ने ( Modi News ) कहा कि भाजपा के संगठन की मर्यादा का उल्लंघन किया जा रहा है कृषि बिल

बादल की सलाह नहीं ली गई।

लोकसभा चुनाव के दौरान अकाली दल चाहता था कि अमृतसर और होशियारपुर सीट भाजपा उसे दे दे और बदले में लुधियाना और जालंधर ले ले लेकिन भाजपा सरकार ने साफ ( krishi Bill  ) इंकार कर दिया। अकाली दल की यह शिकायत थी कि देश में सबसे बड़े किसान नेता प्रकाश सिंह बादल है लेकिन किसानों के मुद्दे पर कभी उनकी सलाह नहीं ली जा रही थी।

यह भी पढ़ें: Pm Kisan Yojana, पीएम किसान की छठी किस्त जारी | लेकिन इन लोगों को नहीं मिलेगा लाभ, इस लिस्ट में चेक करें अपना नाम।

दीअद नेताओं की कोई बैठक नहीं हुई

d.Ed नेताओं की शिकायत किया है कि वे एनडीए के पुरानी सहयोगी है लेकिन हाल ही में वर्षों में अहमद मुद्दों पर विचार विमर्श के लिए कोई बैठक नहीं की गई। संसद सत्र के दौरान जरूर एनटीएस की बैठक होती है लेकिन वह सिर्फ सत्र की राजनीति को लेकर होती है।

नोट: – दोस्तों अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आता है तो अपने दोस्तों में जरूरी से शेयर करें फेसबुक व्हाट्सएप इंस्टाग्राम जैसी सोशल नेटवर्किंग भी से शेयर करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इसके बारे में जाने और समझे धन्यवाद।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

ध्यान दें :- ऐसे ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई नई या पुरानी सरकारी योजनाओं की जानकारी हम सबसे पहले अपने इस वेबसाइट sarkariyojnaa.com के माध्यम से देते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें ।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

Posted by Amar Gupta

🔥🔥 Join Our Group For All Information And Update, Also Follow me For Latest Information🔥🔥

🔥 Follow US On Google News Click Here
🔥 Whatsapp Group Join Now Click Here
🔥 Facebook Page Click Here
🔥 Instagram Click Here
🔥 Telegram Channel Techgupta Click Here
🔥 Telegram Channel Sarkari Yojana Click Here
🔥 Twitter Click Here
🔥 Website  Click Here

UP Kisan karj Rahat list 2021

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

Leave a Comment