Majdur Yojana Aavedan , मजदूर योजना आवेदन , 35 लाख मजदूरों को मिलेगा 1000-1000 रुपए ।

Please share this
  •  
  • 120
  •  
  • 712
  • 102
  •  
    934
    Shares

Majdur Yojana Aavedan , मजदूर योजना आवेदन , 35 लाख मजदूरों को मिलेगा 1000-1000 रुपए ।

|| Majdur Yojana Aavedan , Majdur Yojana ,  मजदूर योजना आवेदन , मनरेगा , Yogi majdur Yojana aavedan ||

कोरोना वायरस के चलते देशभर में मंदी का दौर छाया हुआ है ऐसे में देश की आर्थिक स्थिति और अर्थव्यवस्था भी काफी नीचे जा रही है । सरकार के द्वारा मजदूर वर्ग के लोगों या दिहाड़ी मजदूर के लिए मजदूर योजना ( Majdur Yojana Aavedan) शुरू की गई है जिसमें इन लोगों को एक निश्चित राशि सीधे उनके बैंक खाते में भेजी जाएगी ।

Majdur Yojana Aavedan

Yogi Majdur Yojana Highlights 

 SCHEME NAME  YOGI MAJDUR YOJANA 
LAUNCHED BYUP CM YOGI ADITYANATH
STATE COVERED UTTARPRADESH
BENEFICIARYदिहाड़ी मजदूर,निर्माण श्रमिकों
 OFFICIAL WEBSITE  NOT LAUNCHED 
APPLICATION PROCESS NOT SURE , MAY BE DIRECT 

योगी मजदूर योजना ₹1000 प्रति मजदूर / Majdur Yojana Aavedan One thousand For Per Labor

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा कोरोना वायरस को लेकर एक बड़ा ऐलान किया गया है , दिहाड़ी मजदूर (यानी ऐसे मजदूर जो रोज श्रम कर पैसा कमाते हैं और केवल श्रम के बदौलत ही उनका घर चल पाता है ) को ₹1000 प्रति व्यक्ति देने का निर्णय लिया है ।

कोरोना वायरस के चलते लोग ज्यादातर घर में ही रह रहे हैं और इन्हें घर में रहने की ही सलाह दी गई है , ऐसे में श्रमिक वर्ग के लोग जो रोज काम कर 300 से 400 रुपए कमाते थे और अपना घर चलाते थे उनका क्या होगा ?

Coronavirus Helpline Number: COVID-19 Toll-Free Number

इसी बात को ध्यान में रखते हुए योगी सरकार ने योगी मजदूर अनुदान योजना (Majdur Yojana Aavedan ) की शुरुआत की है जिसके तहत इन मजदूरों को ₹1000 दिया जाएगा।

सरकार के द्वारा 35 लाख मजदूरों को एक ₹1000-1000 की रकम सीधे उनके बैंक खाते में आरटीजीएस के माध्यम से भेजी जाएगी ।

मजदूर अनुदान योजना में किस प्रकार के मजदूरों को दिया जाएगा लाभ ? /Majdur Yojana Aavedan Benefits

मजदूर अनुदान योजना के तहत 15 लाख दिहाड़ी मजदूर को ₹1000 प्रति मजदूर सीधे बैंक खाते में भेजा जाएगा । साथ ही मजदूर अनुदान योजना के तहत 20.37 लाख निर्माण श्रमिकों को भी योगी मजदूर अनुदान योजना का लाभ दिया जाएगा ।

उत्तर प्रदेश सरकार से मिली जानकारी से यह पता चला है कि 15 लाख दिहाड़ी मजदूर पंजीकृत हैं जिनका डेटाबेस और बैंक अकाउंट की जानकारी सरकार के पास सुरक्षित है ।

साथ ही राज्य सरकार से मिली जानकारी से यह भी पता चला है कि 20.37 लाख मजदूर , जिस में शामिल है रिक्शा चलाने वाले, खोमचे वाले, रेहडी वाले, फेरी वाले निर्माण कार्य करने वाले इत्यादि । जिनका पंजीकरण हो चुका है और सरकार के पास इन लोगों का भी डेटाबेस और बैंक अकाउंट की जानकारी सुरक्षित रखी हुई है ।

Pmay List,iay.nic.in reports 

इन मजदूरों को सरकार के द्वारा ₹1000 की आर्थिक सहायता और साथ ही साथ भरण-पोषण के लिए भत्ता देने का भी निर्णय योगी सरकार के द्वारा लिया गया है ।

योगी सरकार के द्वारा मनरेगा के मजदूरों के लिए भी एक अहम निर्णय लिया गया है राज्य सरकार के द्वारा बताया गया है कि मनरेगा के मजदूरों का भी भुगतान जल्द से जल्द कर दिया जाएगा । साथ ही सरकार के द्वारा यह भी बताया गया है कि मनरेगा के मजदूर के खाते में भी सरकार ₹1000 का भुगतान जल्द से जल्द करेगी ।

मनरेगा के मजदूरों को मिलेगा अधिक लाभ

योगी सरकार के द्वारा मनरेगा के मजदूरों को अधिक लाभ दिया जाएगा इन मजदूरों को सबसे पहले मनरेगा का भुगतान जल्द से जल्द किया जाएगा , साथ ही इन मजदूरों के खाते में ₹1000 का अतिरिक्त भुगतान योगी मजदूरी योजना के तहत की जाएगी ।

मनरेगा के मजदूरों को खाद्यान्न उपलब्ध कराने का भी फैसला किया गया है , योगी सरकार ने कहा कि 1.65 करोड़ परिवारों को अनाज उपलब्ध कराया जाएगा जिसमें से बीपीएल परिवारों को 20 किलो गेहूं 15 किलो चावल मुफ्त में दिया जाएगा ।

साथ ही सरकार के द्वारा पेंशन धारियों के लिए भी बड़ी घोषणा की गई है जिसमें जितने भी उत्तर प्रदेश के पेंशन धारी हैं उन सभी को अप्रैल और मई के पेंशन का भुगतान अप्रैल माह में ही कर दिया जाएगा ।

योगी मजदूर योजना आवेदन कैसे करें ? /Yogi majdur Yojana aavedan kaise karen

बता दें कि सरकार ने योगी मजदूर योजना के लिए अब तक आवेदन के कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी है सरकार के द्वारा अब तक ना ही कोई ऑनलाइन पोर्टल बनाया गया है और ना ही कोई ऑफलाइन फॉर्म ।

सूत्रों से यह अनुमान लगाया जा रहा है कि सरकार के पास इन मजदूरों का डेटाबेस पहले से मौजूद है और इस कोरोना वायरस की स्थिति को देखते हुए सीधे मजदूरों के खाते में पैसे बिना कोई पंजीकरण लिए भेज दिए जाएंगे ।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सरकार के पास 15 लाख दिहाड़ी मजदूर तथा 20.37 लाख निर्माण मजदूर पंजीकृत हैं और इन मजदूरों का पूरा डाटा बेस साथ ही बैंक अकाउंट की जानकारी भी सरकार के पास मौजूद है ।

प्रधानमंत्री आवास योजना 2020 

तो ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि सरकार बिना कोई पंजीकरण लिए ही इन मजदूरों के बैंक खाते में सीधे ₹1000 की रकम आरटीजीएस के माध्यम से भेज देगी ।

नोट :- जो मजदूर पंजीकृत नहीं है उनके लिए सरकार ने अभी तक कोई भी आदेश नहीं जारी किया है ।

अगर इस योजना में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन या ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन की कोई फॉर्म आती है तो हम आपको उसकी जानकारी इसी आर्टिकल के माध्यम से देंगे ।

ध्यान दें :- तब तक के लिए आप हमारी वेबसाइट sarkariyojnaa.com के इस आर्टिकल को बुकमार्क करके रख सकते हैं ।

नोट :- इस योजना ( Majdur Yojana Aavedan ) के ऊपर अगर कोई और आधिकारिक बयान आती है तो उसकी जानकारी हम आपको अपनी वेबसाइट के माध्यम से सबसे पहले देने की कोशिश करेंगे ।

अगर आपको मजदूर योजना से संबंधित कोई जानकारी चाहिए या आप कुछ पूछना चाहते हैं तो कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं ।

नोट :- अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे लाइक और शेयर करना ना भूले ।

ऐसे ही आर्टिकल हम रोजाना अपनी वेबसाइट sarkariyojnaa.com के माध्यम से देते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को फॉलो जरूर करें । , Yogi majdur Yojana aavedan

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

POSTED BY AMAR GUPTA

मजदूर योजना आवेदन

मजदूरों से संबंधित कुछ प्रमुख योजनाएं ; Yogi majdur Yojana aavedan

Pm Kisan FPO Yojana,किसान उत्पादक संगठन,किसान एफपीओ योजना ।
श्रमिक कार्ड बनवाने हेतु आवश्यक दस्तावेज ?

आवेदन फॉर्म (यदि आपके पास नहीं है तो यहाँ क्लिक करके डाउनलोड करे –
राशन कार्ड
भामाशाह कार्ड
एक फोटो
आधार कार्ड
ठेकेदार अथवा नियोजक का कम से कम 90 दिवस कार्य करने का प्रमाण पत्र (जो की फॉर्म तथा लेटर पेड दोनों पर हक्ताक्षर और मोहर के साथ प्रमाणित करेगा )

लेबर कार्ड से क्या लाभ है?

लेबर कार्ड बनते ही मजदूर का दुर्घटना बीमा हो जाएगा। इसके लिए उन्हें किसी तरह का अंशदान नहीं करना पड़ेगा। बीमा के तहत यदि दुर्घटना में मौत होती है तो एक लाख रुपए, सामान्य मृत्यु की स्थिति में 30 हजार रुपए, आंशिक अपंगता पर 37,500 रुपए, पूर्ण अपंगता पर 75,000 रुपए मिलेंगे।

श्रमिक कार्ड योजना क्या है?

lABOUR CARD से होने वाले फायदों के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि श्रमिक कार्ड बनने के बाद दो बेटियों की शुभ शक्ति योजना पर 55.55 हजार रुपये की की सरकारी सहायता राशि, जमीन का पट्टा होने पर 1 लाख 50 हजार रुपये की सहायता राशि, दुर्घटना होने पर 30 हजार से 5लाख रूपये की सहायता राशि, लड़के के जन्म पर 20हजार

श्रमिक कार्ड बनने में कितना समय लगता है?

ऐसे में श्रमिकों की सुविधा के लिए सप्ताह में एक दिन गोहाना में कार्ड बनाने की व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि गोहाना में श्रमिकों के लिए कोई अपनी जगह नहीं है।


Please share this
  •  
  • 120
  •  
  • 712
  • 102
  •  
    934
    Shares
  •  
    1.6K
    Shares
  •  
  • 502
  • 410
  •  
  • 205
  • 520
  •  
Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

जरुरी सूचना

दोस्तों, हमारी वेबसाइट (sarkariyojnaa.com)सरकार द्वारा चलाई जाने वाली वेबसाइट नहीं है,ना ही किसी सरकारी मंत्रालय से इसका कुछ लेना देना है | यह ब्लॉग किसी व्यक्ति विशेष द्वारा, जो सरकारी योजनाओं में रुचि रखता है और औरों को भी बताना चाहता है, द्वारा चलाया गया है | हमारी पूरी कोशिश रहती की एकदम सटीक जानकारी अपने पाठकों तक पहुंचे जाए लेकिन लाख कोशिशों के बावजूद भी गलती की सम्भावना को नकारा नहीं जा सकता| इस ब्लॉग के हर आर्टिकल में योजना की आधिकारिक वेबसाइट की जानकारी दी जाती है| हमारा सुझाव है कि हमारा लेख पढ़ने के साथ साथ आप आधिकारिक वेबसाइट से भी जरूर जानकारी लीजिये | अगर किसी लेख में कोई त्रुटि लगती है तो आपसे आग्रह है कि हमें जरूर बताएं |

हम अपने ब्लॉग के माध्यम से रजिस्ट्रेशन नहीं करवाते ना ही कभी भी पैसे कि मांग करते हैं | हमारा उद्देश्य है केवल आप तक सही जानकारी पहुँचाना !