(पंजीकरण) कृषि इनपुट अनुदान योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन

Krishi input anudan ( krishi input bihar ) krishi input ravi fasal (असमय वर्षा /ओलावृष्टि/आंधी ) Krishi input anudan online apply 2021 , देश के विभिन्न राज्यों में बिन मौसम बरसात और ओला गिरने की वजह से बहुत सारे किसानों के रबी फसल 90 फ़ीसदी तक खराब हो चुके हैं । ऐसे में किसान कृषि इनपुट अनुदान के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं जिसके लिए राज्य सरकार के द्वारा घोषणा कर दी गई है ।

Krishi Input Anudan Yojana Apply,Status Check 2021

बिहार राज्य फसल सहायता योजना खरीफ 2021 हेतु ऑनलाइन आवेदन शुरू । अगर आपका खरीफ फसल नष्ट हुआ है तो इसके लिए आवेदन शुरू हो चुका है आप नीचे बताए गए इमेज की प्रक्रिया को अपनाकर खरीफ कृषि इनपुट अनुदान के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं । बाकी की प्रक्रिया रवि की तरह ही सामान रहेगी जो हमने आपको नीचे बताया है ।

क्या आप भी एक किसान हैं , क्या आपका भी रवि फसल ओलावृष्टि के कारण नुकसान हुआ है ?

अगर “हां” तो आज के इस आर्टिकल में हम आपको बिहार कृषि इनपुट अनुदान ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया बताएंगे ,साथ ही हम आपको अन्य राज्यों में भी आवेदन की प्रक्रिया की जानकारी देंगे ।

Krishi Input Aavedan

इस पोस्ट में क्या है ?

कृषि इनपुट अनुदान रवि मौसम (असमय वर्षा/ओलावृष्टि/आंधी) ऑनलाइन आवेदन 2021

ओला गिरने से देश के विभिन्न राज्यों में किसानों की फसलों को बहुत ज्यादा नुकसान हुआ है और आगे भी इसकी आशंका जताई जा रही है ।

देश के कई हिस्सों में किसानों को 90% से ज्यादा फसल की हानि हुई है ,ऐसे में राज्य सरकार ने आगे आकर इन किसानों को अनुदान देने का निर्णय लिया है जिसके तहत ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया भी जल्द ही शुरू होने वाली है ।

राज्य सरकार के द्वारा किसानों को कृषि इनपुट अनुदान रवि फसल के तहत अनुदान देने का वादा किया गया है ।

ओलावृष्टि और असमय बारिश की वजह से इस बार रबी फसल की बहुत ज्यादा हानि हुई है , जिनमें सबसे ज्यादा हानि बिहार, राजस्थान एवं उत्तर प्रदेश में हुई है ।

राजस्थान सरकार ने किसानों को ओलावृष्टि से हो रहे नुकसान के लिए विशेष गिरदावरी अभियान चलाने का निर्णय लिया है ।

वहीं उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा एक टोल फ्री नंबर भी जारी किया गया है जिस पर किसान ओलावृष्टि, जलभराव, आकाशीय बिजली से फसल क्षति की स्थिति में विनीत किसानों को घटना के 72 घंटों के अंदर सूचना बीमा कंपनी के टोल फ्री नंबर 1800 120 90 90 90 पर कॉल कर रजिस्टर्ड कराना आवश्यक है ।

Krishi Input Anudan Yojana Highlights 2021

योजना का नाम कृषि इनपुट अनुदान योजना
विभाग कृषि विभाग बिहार पटना
लाभार्थी राज्य के सभी पंजीकृत किसान
लाभ फसल क्षति, असमय वर्षा ,ओलावृष्टि भूस्खलन ,बाढ़, सूखा ग्रसित क्षेत्र होने पर राज्य सरकार द्वारा चयनित क्षेत्र में खेती करने वाले किसान ।
आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन के माध्यम से
राज्य बिहार
आधिकारिक वेबसाइट Click Here
स्टेटस चालू

बिहार में 9 मार्च 2021 से कृषि इनपुट अनुदान रबी मौसम (असमय बारिश/ओलावृष्टि/आंधी) के लिए आवेदन लिए जाएंगे ।

बिहार के किसान कृषि इनपुट अनुदान रवि मौसम का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन DBT agriculture Bihar की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर कर सकते हैं ।

नोट :- आगे हम आपको कृषि इनपुट अनुदान रबी मौसम के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करना है इसकी प्रक्रिया बताएंगे ।

राजस्थान सरकार के द्वारा 10 से 15 दिनों तक विशेष गिरदावरी अभियान चलाया जाएगा ।

आपदा प्रबंधन मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल ने विधानसभा में कहा कि राजस्थान सरकार और आपदा प्रबंधन दोनों मिलकर ओलावृष्टि से किसानों को जो नुकसान हुए हैं उसकी पूर्ति करने के लिए कार्य करेगी।

मंत्री ने यह भी बताया कि किसानों को ओलावृष्टि से हुए नुकसान का आकलन करने के लिए अगले 10 से 15 दिनों में विशेष रूप से गिरदावरी करवाकर किसानों को हुए नुकसान का पूरा मुआवजा दिलवाया जाएगा ।

उन्होंने नागौर में आकाशीय बिजली गिरने से जिन दो महिलाओं की मृत्यु हुई उनके परिजनों को 4 लाख रुपए आर्थिक सहायता देने की घोषणा भी की है ।

गिरदावरी के माध्यम से ओलावृष्टि से हुए नुकसान का संपूर्ण आकलन कराया जाएगा और संबंधित अनुदान किसानों को सहायता के रूप में उपलब्ध कराई जाएगी।

बिहार में ओलावृष्टि से हुए नुकसान के लिए चलाया जा रहा है कृषि इनपुट अनुदान रवि मौसम ।

बिहार में भी इस बार असमय बारिश और ओलावृष्टि के कारण किसानों के रवि फसल 33% से अधिक नष्ट हुए हैं ।

ऐसे में बिहार के किसान भी Dbt agriculture वेबसाइट पर कृषि इनपुट अनुदान रवि के लिए आवेदन 9 मार्च 2021 से कर सकते हैं ।

बिहार सरकार ने भी किसानों के सहायता में अपना कदम आगे बढ़ाया है और कृषि इनपुट का लिंक DBT agriculture Bihar की वेबसाइट पर जारी कर दिया है ।

कैसे करें कृषि इनपुट रवि के लिए आवेदन | krishi input online apply

हम यहां आपको बिहार में कृषि इनपुट ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया बता रहे हैं, बिहार में कृषि इनपुट के लिए आवेदन प्रत्यक्ष लाभ अंतरण, कृषि विभाग, बिहार सरकार यानी Dbt agriculture Bihar की वेबसाइट से किया जा सकता है ।

DBT Agriculture Bihar, Krishi Input Online Apply Ravi fasal

How To Apply For Krishi Input Ravi

Time needed: 5 minutes.

How to DBT Agriculture Bihar, Krishi Input Online Apply Ravi fasal

  1. सबसे पहले आपको डीबीटी एग्रीकल्चर बिहार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा ।

    dbt agriculture Bihar पर जाने के लिए यहां क्लिक करें । ↗

  2. वेबसाइट पर जाते हैं आपके सामने DBT Agriculture Home Page खुल कर आ जाएगा

    dbtagriculture.bihar.gov.in
    जो कुछ इस प्रकार से दिखाई देगा । 👇👇

  3. Menu में आपको ऑनलाइन आवेदन करें का एक लिंक देखने को मिलेगा,

    जिसके तहत आपको दूसरा लिंक कृषि इनपुट अनुदान रवि मौसम (असमय वर्षा/ओलावृष्टि/आंधी) (2019-20) का ऑप्शन देखने को मिलेगा ।
    जैसा यहां दिखाया गया है 👇👇 krishi input anudan

  4. Krishi Input Aavedan रवि मौसम (असमय वर्षा/ओलावृष्टि/आंधी) (2019-20) पर क्लिक करें

    क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा । जो कुछ इस प्रकार से होगा 👇👇 कृषि इनपुट अनुदान योजना(2019-20)

  5. यहां पर आप कृषि इनपुट योजना (2019-20) रवि मौसम में फरवरी 2020 माह में असमय वर्षा/आंधी/ओलावृष्टि के कारण प्रभावित रबी फसलों के लिए अनुदान आवेदन का फॉर्म देखने को मिल जाएगा ।

    जैसा यहां ऊपर दिखाया गया है ।

  6. यहां पर आपको अपनी पंजीकरण संख्या (किसान पंजीकरण संख्या) दर्ज कर सर्च के बटन पर क्लिक करनी होगी ।

    क्लिक करते ही अगर आप एक रजिस्टर्ड किसान हैं तो फॉर्म खुलकर आ जाएगा ।

  7. जिसमें आप अनुदान पाने हेतु सभी जानकारी दर्ज करेंगे ।

    दर्ज की जाने वाली जानकारी निम्नलिखित प्रकार से हो सकती हैं ।
    ➡ किसान और उसकी निजी जानकारी
    ➡ फसल और क्षति हुए फसल की जानकारी
    ➡ किसान का आधार संख्या और जिस खाते में अनुदान पाना चाहते हैं उस खाते का विवरण

  8. सभी आवश्यक जानकारी दर्ज कर आप अपने आवेदन को सबमिट करेंगे । सबमिट करने के 48 घंटे के भीतर आप आवेदन में किसी प्रकार की त्रुटि का सुधार कर पाएंगे

    त्रुटि का सुधार आप 48 घंटे के बाद नहीं कर पाएंगे ।

  9. त्रुटि का सुधार आप 48 घंटे के बाद नहीं कर पाएंगे ।

    48 घंटे के भीतर आप आवेदन में किसी प्रकार की त्रुटि का सुधार कर पाएंगे

  10. आवेदन फॉर्म सबमिट होने के बाद आपको कृषि इनपुट अनुदान की राशि आपके बैंक खाते में DBT Agriculture Bihar के माध्यम से भेज दी जाएगी ।

    अब आपका कृषि इनपुट अनुदान के लिए ऑनलाइन आवेदन हो चुका है ।

कृषि इनपुट अनुदान के तहत कुछ मुख्य बिंदु / DBT Agriculture Bihar Krishi Input Application Important Terms

  1. अपनी 13 अंकों की किसान पंजीकरण संख्या पंजीकरण बॉक्स में इंटर करें फिर सर्च करें
  2. Krishi Input Aavedan रवि फसल के तहत किसान अधिकतम 2 हेक्टेयर (494 डेसीमल भूमि) के लिए ही आवेदन कर सकते हैं ।
  3. कृषि इनपुट अनुदान बिहार में अभी केवल 10 जिलों में ही शुरू किया जाएगा
  4. निम्नलिखित जिलों के लिए कृषि इनपुट अनुदान ऑनलाइन आवेदन किए जा सकते हैं । औरंगाबाद, भागलपुर, बक्सर,गया, जहानाबाद,कैमूर, मुजफ्फरपुर, पटना, पूर्वी चंपारण, समस्तीपुर वैशाली ।
  5. आवेदन सबमिट होने के बाद यदि आवेदन में कोई भी त्रुटि हो तो, त्रुटि का बदलाव 48 घंटे के अंदर कर लें, अन्यथा आवेदन उसी रूप में 48 घंटे के बाद संबन्धित कृषि समन्वयक को जांच हेतु अग्रसारित हो जायेगा और संबन्धित त्रुटि में कोई भी बदलाव संभव नहीं होगा |
  6. यह योजना अधिकतम 2 हेक्टेयर (494 डिसिमिल भूमि ) तक के लिए देय है |
  7. कृपया आवेदन मे किए गए सुधार को पुनः जांच ले | एक बार सुधार अपडेट होने के पश्चात दुबारा सुधार संभव नहीं होगा |
  8. किसान का प्रकार “स्वयं भू-धारी ” होने की स्थिति मे भूमि के दस्तावेज़ के लिए (एलपीसी/जमीन रसीद/वंशावली/जमाबंदी/विक्रय-पत्र),”वास्तविक खेतिहर” के स्थिति में स्व-घोषणा प्रमाण पत्र तथा “वास्तविक खेतिहर + स्वयं भू-धारी” के स्थिति में भूमि के दस्तावेज़ के साथ-साथ स्व-घोषणा पत्र संलग्न करना अनिवार्य है | स्व-घोषणा प्रमाण पत्र डाउनलोड करें |
  9. कृषि विभाग के विभिन्न योजना में लाभ लेने के लिए आधार से लिंक बैंक खाता अनिवार्य है | योजना की राशि आधार से लिंक बैंक खाते में हीं अंतरित की जाएगी| आवेदक कृपया आधार से लिंक बैंक खाता की प्रविष्टि करें |

नोट :- इस प्रकार से आप बिहार में Krishi Input Aavedan रवि फसल के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं ।

इन जिलों में हुआ है ओलावृष्टि से सबसे ज्यादा नुकसान ।

राजस्थान के इन जिलों में हुआ है असमय वर्षा ओलावृष्टि से नुकसान ।

4 से 5 मार्च 2020 में हुए ओलावृष्टि से फसल खराब की प्रारंभिक सूचना जिलों से प्राप्त की गई है सबसे ज्यादा नुकसान निम्नलिखित जिलों में हुए हैं ।

अलवर, बाड़मेर, भरतपुर, दौसा, गंगानगर, हनुमानगढ़, जयपुर, जोधपुर, करौली, सवाई माधोपुर, बूंदी, बीकानेर, चुरू एवं झुंझुनू से अधिक नुकसान की सूचना प्राप्त हुई है ।

जिला अलवर, बाड़मेर, भरतपुर ,दौसा, गंगानगर ,हनुमानगढ़, जयपुर ,जोधपुर ,करौली एवं सलाई माधोपुर में 33% या इससे अधिक फसल के नष्ट होने की जानकारी मिली है ।

इसी प्रकार से अलवर की दो तहसीलो ,तहसील रामगढ़ में 48 गांव में 63 से 74 फ़ीसदी तक फसल के नुकसान हुई अलवर के 4 गांव में 35% से 80% तक फसल के नुकसान हुई है ।

और जिला बाड़मेर की एक तहसील गुडामालानी के 9 गांव में 40 से 50 फ़ीसदी रबी फसल ओलावृष्टि की मार से ढह चुके हैं ।

बिहार के 10 जिलों में दिया जाएगा Krishi Input Aavedan।

इसी प्रकार से बिहार में भी सरकार के द्वारा 10 ऐसे जिले हैं जिनका चयन Krishi Input Aavedan 2020 के तहत किया गया है ।

बिहार में औरंगाबाद ,भागलपुर, बक्सर, गया ,जहानाबाद ,कैमूर, मुजफ्फरपुर ,पटना ,पूर्वी चंपारण ,समस्तीपुर वैशाली इन जिलों में सबसे ज्यादा रबी फसल का नुकसान हुआ है ।

33 फ़ीसदी से अधिक नुकसान पर सरकार देगी अनुदान

सरकार के द्वारा Krishi Input Aavedan ऐसे ही किसानों को दिए जाएंगे जिनका फसल 33% या उससे ज्यादा नुकसान हुआ है ।

5 मार्च 2020 को मुख्य सचिव द्वारा सभी जिला कलेक्टर को निर्देशित किया गया कि प्रारंभिक आकलन की सूचना भिजवा दें ।

राजस्थान में गिरदावरी रिपोर्ट शीघ्र तैयार कर भिजवाने की कार्यवाही करें और 33% या इससे अधिक फसल खराब प्राप्त होने पर एसडीआरएस नॉर्मल के अनुसार Krishi Input Aavedan देने की प्रक्रिया शुरू करें ।

नोट :- तो इस प्रकार से आप में कृषि इनपुट अनुदान रबी फसल के बारे में जानकारी प्राप्त की ।

हमने इस आर्टिकल में आपको तीन राज्य बिहार ,राजस्थान और उत्तर प्रदेश जहां सबसे ज्यादा रवि फसल की क्षति हुई है रवि मौसम कृषि इनपुट उनकी जानकारी उपलब्ध कराई है ।

ध्यान दें :- ऐसे ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई नई या पुरानी सरकारी योजनाओं की जानकारी हम सबसे पहले अपने इस वेबसाइट sarkariyojnaa.com के माध्यम से देते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें ।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

Posted by Amar Gupta

🔥🔥 Join Our Group For All Information And Update, Also Follow me For Latest Information🔥🔥

🔥 Follow US On Google News Click Here
🔥 Whatsapp Group Join Now Click Here
🔥 Facebook Page Click Here
🔥 Instagram Click Here
🔥 Telegram Channel Techgupta Click Here
🔥 Telegram Channel Sarkari Yojana Click Here
🔥 Twitter Click Here
🔥 Website  Click Here

krishi input bihar

FAQ बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना (Bihar Krishi Input Anudan Yojna

✔️ Krishi input anudan क्या है ?

कृषि विभाग के द्वारा किसानों को फसल छाती के ऊपर अनुदान Krishi Input Aavedan के तहत प्रदान किया जाता है ।

✔️ Krishi input anudan status कैसे चेक करें ?

कृषि इनपुट अनुदान स्टेटस को आप Dbt agriculture की आधिकारिक वेबसाइट की सहायता से चेक कर सकते हैं ।

✔️ क्या कृषि इनपुट अनुदान का लाभ लेने के लिए किसान पंजीकरण जरूरी है ?

जी “हां” कृषि इनपुट अनुदान के तहत लाभ आपको तभी दिया जाएगा जब आप एक पंजीकृत किसान होंगे ।

✔️ मैं अपना किसान पंजीकरण संख्या कैसे जान सकता हूं ?

किसान पंजीकरण संख्या की जानकारी आप DBTagriculture Bihar की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर पता कर सकते हैं ।

✔️ किसान पंजीकरण संख्या कैसे खोजें, बिहार ?

1. सबसे पहले DBT Agriculture Bihar की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं ।
2. होम पेज पर मौजूद मीनू में पंजीकरण ऑप्शन के अंतर्गत पंजीकरण जाने के ऑप्शन पर क्लिक करें ।
3. पंजीकरण जाने पर जैसे ही आप क्लिक करेंगे आपके सामने एक नया पेज खुल कर आ जाएगा जो इस प्रकार से होगा । 👇👇 किसान पंजीकरण संख्या
4. यहां आप अपने किसान पंजीकरण संख्या की जानकारी 3 माध्यमों से जांच सकते हैं (A) registration id (B) Aadhaar number (C) Mobile Number
5. जो आपके पास मौजूद है उसका चयन करें , उसकी संख्या दर्ज करें और सर्च के बटन पर क्लिक करें ।
6. सर्च करते ही अगर आपका आप किसान पंजीकरण हो चुका होगा तो यहां पर आपको अपने किसान पंजीकरण संख्या दिख जाएगी ।

Leave a Comment