Fastag क्या है ,Fastag कैसे काम करता है । Fastag mandatory , How It work in India in Hindi

Please share this
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Fastag क्या है ,Fastag कैसे काम करता है । Fastag mandatory , How It work in India in Hindi

इस पोस्ट में क्या है ?

1 दिसंबर से सरकार हाईवे पर टोल चुकाने के लिए Fastag को अनिवार्य करने जा रही है । ऐसे में अगर आपके पास Fastag नहीं है तो आप को दोगुना टोल टैक्स(double Tolltax) चुकाना पड़ सकता है या आपको बहुत ज्यादा इंतजार करना पड़ सकता है चलिए जानते हैं FASTag Kya Hai और सरकार ने क्या कुछ अपडेट किया है ।

FASTag Kya Hai|| Fastag, Fastag sticker,Fastag installation,Fastag kya hai ,Fastag lagane ka charge,Fastag charge,Fastag mandatory in India, Fastag mandatory for toll plaza,Fastag Recharge , Fastag bank account ||

READ THIS POST IN HINDI

Fastag : यह रेडियो फ्रीक्वेंसी आईडेंटिफिकेशन टैग(RFID) गाड़ी के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है जो आपके बैंक अकाउंट या फिर आपके वॉलेट से जुड़ा रहता है । Fastag के द्वारा जब भी गाड़ी टोल प्लाजा क्रॉस करती है तो एक स्कैनर के जरिए ही Fastag Account से भुगतान हो जाता है वहां पर आपको रुककर या कैश के रूप में टोल टैक्स नहीं चुकाना पड़ता है ।

अगले महीने यानी कि 1 दिसंबर से सरकार हाईवे पर टोल चुकाने के लिए Fastag को अनिवार्य करने जा रही है । सरकार 100% टोल टैक्स इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से ही लेना चाहती है और इसको ध्यान में रखते हुए देशभर में नेशनल हाईवे पर टोल प्लाजा अब Fastag के जरिए ही भुगतान की राशि लेगा ।

क्या है Fastag ?/ FASTag Kya Hai ?

Fastag : यह एक रेडियो फ्रिकवेंसी आईडेंटिफिकेशन(RFID) टैग होता है जो वाहन के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है ,Fastag के साथ आपका बैंक अकाउंट या नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया का पेमेंट वॉलेट जुड़ा हो ता हैं , जिससे गाड़ी मालिक को टोल प्लाजा से गुजरने वक्त रुकने की जरूरत नहीं होती है इस टैग के जरिए खुद व खुद टोल टैक्स का भुगतान हो जाता है और टोल प्लाजा पर लगा गेट खुल जाता है ।

नोट :- 1 दिसंबर के बाद Fastag वाली गाड़ियों को ज्यादा प्राथमिकता दी जाएगी ,1 दिसंबर के बाद ऐसे वाहन जिन पर Fastag Sticker नहीं लगा रहता है और टोल प्लाजा से गुजरता है तो उन्हें दोगुना टैक्स का भुगतान करना होगा ।

उदाहरण :- मान लेते हैं किसी टोल प्लाजा पर गाड़ी के आवागमन के लिए पांच रास्ते हैं तो इन पांचों में से चार के ऊपर Fastag की सुविधा रहेगी । केवल एक ही रास्ता कैश के भुगतान के लिए खुला रहेगा , जिसमें भी अगर कोई गाड़ी मालिक कैश भुगतान कर टोल प्लाजा से गुजारना चाहता है तो उन्हें टोल टैक्स की रकम की दुगनी रकम देनी होगी और इंतजार का समय भी काफी लंबा हो जाएगा क्योंकि टोल प्लाजा पर Fastag रहित वाहनों के लिए एक ही गेट रहेगा ।

कहां से ले सकते हैं Fastag ?

भारत में बहुत सारे सरकारी बैंक है जिसके माध्यम से आप Fastag ले सकते हैं या फिर Fastag आप टोल प्लाजा पर जाकर भी ले सकते हैं । यहां तक कि Fastag लेने के लिए आप Paytm और amazon जैसे ऑनलाइन साइड का प्रयोग भी कर सकते हैं ।

               सबसे आसान यह रहेगा कि आप अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर के पास जाए और वहां से एक फास्टैग स्टीकर के लिए आवेदन कर दें Fastag sticker बनकर आपके घर पर पहुंच जाएगा ।

Fastag कैसे काम करता है / How fast tag for electronic toll collection works ?

फास्टैग स्टीकर( Fastag Sticker) आपके वाहन के विंडस्क्रीन पर लगा रहता है क्योंकि यह एक रेडियो फ्रिकवेंसी आईडेंटिफिकेशन टैग (RFID TAG) होता है जिस वजह से आपकी गाड़ी जब भी टोल प्लाजा के पास जाती है तो वहां पर फास्ट टैग रीडर लगा होता है और इस रीडर के द्वारा आपके Fastag के स्टीकर (Fastag Sticker ) को स्कैन किया जाता है और स्कैन करने के बाद आपके फास्टैग सिस्टम से टोल टैक्स का भुगतान खुद ब खुद हो जाता है। यह प्रक्रिया काफी तेज होती है जिसके कारण आपको अपनी गाड़ी टोल प्लाजा के पास केवल धीमी करनी होती है बल्कि आप को रुकना भी नहीं पड़ता है । चुकी फास्टैग से या तो आपका बैंक अकाउंट लिंक होता है या फिर आपका वॉलेट और वॉलेट से रकम काट ली जाती है Fastag की वॉलेट में रकम खत्म होने के बाद आप इसे पुनः रिचार्ज भी कर सकते हैं ।

Fastag के फायदे /Benefits of fast tag

Fastag के बहुत सारे फायदे हो सकते हैं लेकिन इनमें से कुछ प्रमुख फायदे हम आपको नीचे बता रहे हैं ।

➡ Fastag सिस्टम के आ जाने से कैशलेस ट्रांजैक्शन में काफी बढ़ोतरी होगी ।
➡ बहुत सारी टोल प्लाजा पर मनमानी चार्ज लिया जाता था ,Fastag के आ जाने से यह समस्या भी दूर हो जाएगी ।
➡ चुकी Fastag के बदौलत टोल प्लाजा से काफी जल्दी गुजरा जा सकता है तो ऐसे में इंतजार की समस्या भी दूर हो जाएगी और पेट्रोल डीजल की भी बचत होगी ।
➡ Fastag के इस्तेमाल करने वाले वाहनों पर सरकार के द्वारा एक निश्चित छूट दी जाती है अगर बात की जाए साल 2016 से 2017 के बीच Fastag है के इस्तेमाल से टोल के भुगतान पर सरकार ने 10% की छूट दी है ।
➡ Fastag के इस्तेमाल पर पहली जो समस्या टोल प्लाजा पर आती थी छुट्टे का ना होना जिस वजह से बहुत बार बहुत सारे लोगों का लड़ाई झगड़ा भी हो जाता था यह समस्या भी दूर हो जाएगी ।
➡ Fastag इस्तेमाल से अवैध वसूली की भी समस्या दूर हो जाएगी ।
➡ टोल प्लाजा पर बहुत ज्यादा जाम की समस्या दूर हो जाएगी चुकी वाहनों को कैस के रूप में ट्रांजैक्शन नहीं करना होगा तो समय बहुत कम लगेगा ।
➡ फास्टैग वॉलेट में परे रकम का प्रयोग 5 वर्षों तक किया जा सकता है ।

Fastag एसएमएस की भी सुविधा होगी । fastag s.m.s. facility

Fastag इस्तेमाल करने वालों के लिए एक बहुत बड़ी यह भी सुविधा दी जाएगी कि आप जब भी टोल प्लाजा से जूगरते है और आपका टोल टैक्स कटता है , तो इसका एस एम एस भी आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर उसी टाइम भेज दिया जाएगा । साथ ही आपको यह भी बताया जाएगा कि टोल प्लाजा पर आपके फास्टैग से कितना पैसा काटा गया है और आपके फास्टैग के वॉलेट में अब कितना अमाउंट बचा हुआ है ।

             Fastag की बेहतर निगरानी के लिए सरकार के द्वारा एप्लीकेशन भी बनाए गए हैं जिसके द्वारा आप ट्रांजैक्शन की हिस्ट्री ,रिचार्ज करना ,कितना पैसा काटा गया ,आपके वॉलेट में कितना पैसा मौजूद है इत्यादि की जानकारी भी देख सकते हैं ।

Fastag Recharge (Bank for recharge fast tag for electronic toll collection account in Hindi )

Fastag की रिचार्ज आप क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, नेट बैंकिंग के माध्यम से कर सकते हैं । Fastag के खाते में कम से कम ₹100 जमा किए जा सकते हैं और Fastag के खाते में अगर आप अधिकतम जमा करना चाहते हैं तो ₹100000 तक जमा कर सकते हैं । Fastag का रिचार्ज आप अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर भी करवा सकते हैं ।

पॉइंट ऑफ सेल के अंतर्गत आने वाली किसी भी टोल प्लाजा या एजेंसी में जाकर आप Fastag के तहत अपना अकाउंट खुलवा सकते हैं , साथ ही आप इन टोल प्लाजा या एजेंसी के माध्यम से Fastag के लिए रिचार्ज भी कर सकते हैं ।
राष्ट्रीय हाईवेज अथॉरिटी ऑफ इंडिया की वेबसाइट में जाकर आप अपने आसपास के पॉइंट ऑफ सेल की जगह का पता लगा सकते हैं ।

वही अभी पीओएस के अंतर्गत आईसीआईसीआई बैंक और एक्सिस बैंक ही आते हैं । आने वाले समय में इसके अंतर्गत आईडीएफसी बैंक और एसबीआई बैंक भी शामिल कर दिए जाएंगे । वहीं आप एसबीआई बैंक ,आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक, बैंक ऑफ पंजाब, सिंडिकेट बैंक ,पेटीएम ,एचडीएफसी बैंक के जरिए भी फास्टैग अकाउंट (fastag recharge) को रिचार्ज कर सकते हैं ।

ALL ABOUT FASTAG

Fastag खाता खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज / required document for open fast tag account ?

Fastag के तहत खाता खोलने के लिए आपके पास निम्नलिखित दस्तावेज होने जरूरी है ।

⏩ वाहन का पंजीकरण प्रमाण पत्र (registration of vehicle certificate ,RC)
⏩ वाहन के मालिक का पासपोर्ट साइज फोटो (OWNER PASSPORT SIZE PHOTO)
⏩ वाहन मालिक का केवाईसी दस्तावेज जैसे कि आधार कार्ड, पैन कार्ड ,वोटर आईडी कार्ड (OWNER’S E-KYC DOCUMENT LIKE PAN CARD ,AADHAR CARD,VOTER ID ETC )

FASTAG KYA HAI सम्पूर्ण जानकारी

Fastag से संबंधित सामान्य तौर पर पूछे जाने वाले प्रश्न /FASTAG FAQ

☑ फास्ट टैग क्या है /what is fast tag ?

fast tag एक रेडियो फ्रिकवेंसी आईडेंटिफिकेशन टैग (RFID) होती है जो गाड़ी के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है जिसके तहत टोल प्लाजा पर टोल टैक्स का भुगतान कैशलेस और डिजिटल माध्यम से किया जाता है ।

☑ फास्टैग इस्तेमाल करने से हमें क्या लाभ है /what are the benefit of using FASTtag ?

Fastag का प्रयोग करने से हमें बहुत सारे लाभ हो सकते हैं जैसे कि टोल प्लाजा पर हमें इंतजार बहुत कम करना पड़ेगा ,पेट्रोल-डीजल की बचत होगी ,पर्यावरण में प्रदूषण की समस्या भी कम होगी ,टोल प्लाजा पर अवैध वसूली जैसे समस्या भी कम हो जाएंगे और भी बहुत सारे लाभ हैं जो हमने आपको ऊपर विस्तार में बताएं हैं ।

☑ मैं फास्टैग कैसे खरीद सकता हूं /how can i buy FASTtag ?

Fastag आप अपने नजदीकी टोल प्लाजा या फिर नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से खरीद सकते हैं । और तो और Fastag की खरीद आप अपने बैंक में जाकर भी कर सकते हैं । यहां तक कि Fastag की बिक्री अब paytm और Amazon जैसे ऑनलाइन साइट पर भी शुरू हो चुकी हैं ।

☑ क्या मैं Fastag का इस्तेमाल दो चक्का वाहन के लिए कर सकता हूं /can I get a fast tag for two wheelers ?

“नहीं” वर्तमान में अगर बात की जाए तो दो चक्का वाहन के लिए Fastag की आवश्यकता नहीं है ।

☑ अगर मैं अपने चार चक्का वाहन को बेचता हूं या फिर मैं एक सेकंड हैंड चार चक्का वाहन खरीदता हूं तो फास्ट टैग को क्या करना चाहिए / what do I do in case I am selling my car/buying a second-hand car, bring a fast tag ?

अगर ऐसी स्थिति उत्पन्न होती है जिसमें आप अपने वाहन को बेच रहे हैं तो वाहन बेचने से पहले आप Fastag जो कि आपके वाहन के विंडस्क्रीन पर लगा है उसे वहां से निकालकर उसे नष्ट कर दें और साथ ही आपके Fastag के साथ जो भी वॉलेट लिंक है उसे डिलीट कर दें । इसके विपरीत अगर आप कोई पुराना चार चक्का वाहन खरीद रहे हैं और उस पर पहले से फास्टैग लगा हुआ है तो आप उसे हटा दें और अपने नाम से एक नया फास्टैग अकाउंट को चालू करें ।

☑ मैं अपने फास्ट को किस प्रकार से समाप्त कर सकता हूं और इसका पैसा वापस पा सकता हूं /how do I surrender my fast tag and get the loaded amount back ?

अगर आप ऐसा करना चाहते हैं तो इसका भी प्रावधान किया गया है ऐसा करने के लिए Fastag के साथ जो भी आपका ईमेल आईडी रजिस्टर्ड होगा उससे आपको एक मेल करना होगा । mail at [email protected] ,
या फिर आपने जिस ही संस्था से Fastag को खरीदा था आपको उसी संस्था से सरेंडर के संबंध में संपर्क करना होगा ।

नोट :- 1 दिसंबर 2019 के बाद Fastag को पूरे देश भर में लागू कर दिया जाएगा ऐसे में अगर आपके पास फास्टैग नहीं होता है तो आप को दोगुना टोल टैक्स भरना होगा साथ ही आपको काफी इंतजार भी करना होगा ।

उम्मीद करता हूं अब आपको Fastag के बारे में ज्यादातर जानकारी पता चल गई होगी अगर आपको अभी भी Fastag या इससे संबंधित कुछ पूछना है तो कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं ।  हम ऐसे ही अपडेट अपनी वेबसाइट sarkariyojnaa.com के माध्यम से रोजाना देते रहते हैं तो आप हमारे इस वेबसाइट को फॉलो भी कर सकते हैं अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो आप इसे शेयर और लाइक भी कर सकते हैं ।


Please share this
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

🔥🔥 Join Our Group For All Information And Update, Also Follow me For Latest Information🔥🔥

🔥 Whatsapp Group Join NowClick Here
🔥 Facebook PageClick Here
🔥 InstagramClick Here
🔥 Telegram Channel TechguptaClick Here
🔥 Telegram Channel Sarkari YojanaClick Here
🔥 TwitterClick Here
🔥 Website Click Here

जरुरी सूचना

दोस्तों, हमारी वेबसाइट (sarkariyojnaa.com)सरकार द्वारा चलाई जाने वाली वेबसाइट नहीं है,ना ही किसी सरकारी मंत्रालय से इसका कुछ लेना देना है | यह ब्लॉग किसी व्यक्ति विशेष द्वारा, जो सरकारी योजनाओं में रुचि रखता है और औरों को भी बताना चाहता है, द्वारा चलाया गया है | हमारी पूरी कोशिश रहती की एकदम सटीक जानकारी अपने पाठकों तक पहुंचे जाए लेकिन लाख कोशिशों के बावजूद भी गलती की सम्भावना को नकारा नहीं जा सकता| इस ब्लॉग के हर आर्टिकल में योजना की आधिकारिक वेबसाइट की जानकारी दी जाती है| हमारा सुझाव है कि हमारा लेख पढ़ने के साथ साथ आप आधिकारिक वेबसाइट से भी जरूर जानकारी लीजिये | अगर किसी लेख में कोई त्रुटि लगती है तो आपसे आग्रह है कि हमें जरूर बताएं |

हम अपने ब्लॉग के माध्यम से रजिस्ट्रेशन नहीं करवाते ना ही कभी भी पैसे कि मांग करते हैं | हमारा उद्देश्य है केवल आप तक सही जानकारी पहुँचाना !