CSC ( कॉमन सर्विस सेंटर ) बनेंगे बिजली विभाग के हेल्पडेस्क होगी अच्छी कमाई ।

CSC ( कॉमन सर्विस सेंटर ) बनेंगे बिजली विभाग के हेल्पडेस्क होगी अच्छी कमाई ।

CSC ( कॉमन सर्विस सेंटर ) बनेंगे बिजली विभाग के हेल्पडेस्क होगी अच्छी कमाई ।

बिजली विभाग और CSC SPV के बीच एक समझौता हुआ है जिसके तहत अब कॉमन सर्विस सेंटर से बिजली विभाग के कार्य को चलाया जाएगा और ग्रामीण इलाके के लोगों को बिजली कनेक्शन, बिल भुगतान, या अन्य किसी प्रकार की सहायता CSC के माध्यम से VLE के द्वारा प्रदान की जाएगी ।                                                                                                                         यह व्यवस्था पूर्वांचल के इलाहाबाद, वाराणसी, आजमगढ़, गोरखपुर, मिर्जापुर और बस्ती जोन में शुरू कर दी जाएगी । और इसने से किसी उपभोक्ताओं से किसी प्रकार का कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जाएगा ।
एमडी ने इसकी जानकारी अभियंताओं को सौंपी है । अगले साल तक उपभोक्ताओं की संख्या में काफी वृद्धि हो जाएगी जिसको ध्यान रखते हुए कॉरपोरेशन ने व्यवस्था शुरू करने का निर्देश दे दिया है ।

जिसके तहत सर्विस सेंटर से बिजली बिल भुगतान, नए कनेक्शन, मीटर रीडिंग, नए मीटर इंस्टॉलेशन, ग्राहकों की शिकायत, उसकी कार्रवाई,आदि के काम दे दिए जाएंगे ।   

                                                                                                                                                                                         चेयरमैन अशोक कुमार ने समीक्षा बैठक में कॉमन सर्विस सेंटर को जोड़ने की बात बताई थी और उन्होंने यह भी कहा था कि इसकी शुरुआत होते हैं हर जिले के कॉमन सर्विस सेंटर संचालकों को इसके लिए प्रशिक्षण भी दिया जाएगा । उन्होंने यह भी बताया कि कॉमन सर्विस सेंटर के द्वारा भुगतान किए गए बिल से मिले राजस्व के 1 फ़ीसदी कमिशन का भुगतान कॉमन सर्विस सेंटर संचालकों को किया जाएगा ।

Alose read :-

खुशखबरी! बिहार बिजली विभाग में 2050 पदों पर निकली नौकरी,10वीं पास करें अभी अप्लाई

इससे कई जिलों के उपभोक्ताओं को काफी लंबी दूरी तय नहीं करनी होगी और साथ ही जिले में निष्क्रिय कॉमन सर्विस सेंटर को भी सक्रिय बनाया जा सकेगा ।

कॉमन सर्विस सेंटर को बिजली केंद्र बनाने के लिए काम शुरू कर दिया गया है। नए साल पर इसे चालू करने का लक्ष्य भी सुनिश्चित किया गया है । मीटर लगाने के बाद ग्रामीण इलाकों में राजस्व की बढोतरी को देख व्यवस्था शुरू आ रही है । गोविंद राजू एनएस- प्रबंध निर्देशक डिस्कॉम ।

न्यूज़ रिपोर्ट:-अमर गुप्ता

Please share this
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment