मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक कल्याण योजना,कैसे करना है आवेदन,कैसे मिलेगा योजना का लाभ !

Please share this
  •  
  • 475
  •  
  • 425
  • 240
  •  
    1.1K
    Shares

मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक कल्याण योजना,कैसे करना है आवेदन,कैसे मिलेगा योजना का लाभ !

मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक कल्याण योजना : अगर आप भी अल्पसंख्यक वर्ग से आते हैं तो मुख्यमंत्री की योजना आपके लिए काफी लाभदायक हो सकती है इसके तहत आपको पेंशन दिए जाएंगे साथ ही आपकी बिटिया के लिए भी कई सारी सुविधाएं दी जाएगी ।

अल्पसंख्यक कल्याण योजना

मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक कल्याण योजना ।

मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक कल्याण योजना की शुरुआत खासकर मुस्लिम परिवार के अल्पसंख्यक लोगों के लिए की है , इस योजना के अंतर्गत गरीब मुसलमान अल्पसंख्यक परिवारों की बेटियों की शादी, बीमारी शादी में आर्थिक सहायता प्रदान की जानी है । उनको पेंशन से लाभान्वित किया जाएगा ।

मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक कल्याण योजना से कैसे मिलता है लाभ ?

इस योजना के तहत अलग-अलग कार्य और स्थिति के लिए अलग-अलग रकम राज्य सरकार के द्वारा मुहैया कराई जाती हैं । योजना के तहत अल्पसंख्यक वर्ग के मुसलमान परिवार की बेटी की शादी पर ₹25000 दिया जाता है वहीं बीमारी के इलाज के लिए ₹5000 दिए जाते हैं । वहीं अगर वृद्धि, विधवा और दिव्यांग मुसलमानों की बात करें तो इनको भी ₹400 प्रतिमाह पेंशन के तौर पर दिया जाता है । इन सभी योजना को अलग-अलग रूप दिए गए हैं चलिए इन के बारे में विस्तार में जान लेते हैं ।

विवाह हेतु अनुदान योजना ।

  • – इस योजना का लाभ उन अल्पसंख्यक वर्ग के मुसलमान को दिया जाता है जो आर्थिक तौर से कमजोर हैं और बेटी की शादी करने में असमर्थ
  • – बेटी की शादी करने के लिए परिवार को ₹25000 की रकम दी जाती है । ( यह रकम तभी दी जाएगी जब बेटी की उम्र 18 वर्ष से अधिक हो )
  • – आयु प्रमाण के तौर पर परिवार को बेटी की शैक्षणिक सर्टिफिकेट मुहैया करानी होती है ।
  • – परिवार को अपना आय प्रमाण पत्र भी दिखाना होता है
  • – योजना का लाभ लेने के लिए शादी का कार्ड और सोहर की भी जानकारी इन्हें देनी होती है
  • – अल्पसंख्यक वर्ग के परिवार को बताना होता है कि शादी के लिए दी जाने वाली रकम वह कहीं और खर्च नहीं करेंगे
  • – सरकार की तरफ से यह आर्थिक मदद बेटी के गृहस्थी के जरूरी सामान को खरीदने के लिए दिए जाते हैं
  • – इस योजना के लिए आवेदन फॉर्म को भरते समय बेटी के अकाउंट की डिटेल भी देनी होती है , अगर बेटी का अकाउंट अभी तक नहीं खुला है तो आप उसका जनधन का खाता नजदीकी बैंक से खुलवा दें
  • – इस योजना के तहत ₹25000 के लाभ बेटी के खाते में सीधे भेजे जाते है ।

चिकित्सा उपचार हेतु योजना का लाभ कैसे लें

इस योजना का लाभ अल्पसंख्यक वर्ग के गरीब मुसलमान परिवारों को मिलेगा योजना का लाभ लेने के लिए उन्हें बीमारी का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होता है ।

  1. बीमारी के लिए जो भी जांच होती है वह सरकारी अस्पताल में ही होनी चाहिए जो कि इस योजना का लाभ गरीबों को दिया जाएगा इस वजह से आय प्रमाण पत्र भी प्रस्तुत करना अनिवार्य है ।
  2. बीमारी कब से और इसका इलाज कहां से चल रहा है इसकी भी जानकारी आपको फॉर्म में भरनी होगी ।
  3. गरीब परिवारों को राज्य सरकार की तरफ से यह मदद इलाज के लिए जांच और दवा खरीदने के लिए दी जाएगी ।
  4. इस योजना का लाभ एक ही परिवार के 2 सदस्य ले सकते हैं
  5. इस योजना के तहत कवर की जाने वाली बीमारी गंभीर होनी चाहिए जिसका लंबा इलाज चले , यानी इस योजना के तहत खांसी ,जुखाम इत्यादि जैसे छोटी बीमारी शामिल नहीं है ।
  6. सरकारी अस्पतालों में गरीब अल्पसंख्यकों का इलाज फ्री में किया जाएगा जांच व उपचार की सभी सुविधाएं उनको फ्री में दी जाएगी , भर्ती होने की स्थिति में भी इनसे कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा ।
  7. यह भी पढ़ें , आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत सरकार आपको हर साल 5 लाख का हेल्थ बीमा कवरेज देती है , कैसे आवेदन करें ।
  8. सामाजिक सुरक्षा पेंशन हेतु आवेदन
  9. राज्य सरकार की ओर से मुस्लिम अल्पसंख्यक गरीब वृद्ध, विधवा और दिव्यांग लोगों के लिए भी पेंशन की सुविधा इसमें शामिल की गई है , इसके तहत इन लोगों को हर महीने ₹400 पेंशन के रूप में प्रदान की जाएगी ।
  10. वृद्ध को आयु प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा वृद्ध की आयु 60 वर्ष या इससे अधिक होनी चाहिए ।
  11. लाभार्थी गरीबी रेखा से नीचे का होना चाहिए यानी इनका नाम बीपीएल की सूची में होना चाहिए और बीपीएल प्रमाण पत्र भी इन्हें प्रस्तुत करना अनिवार्य है ।
  12. विधवा पेंशन का लाभ पाने के लिए लाभार्थी को अपने पति का मृत्यु प्रमाण पत्र भी दिखाना अनिवार्य है
  13. विधवा को निवास प्रमाण पत्र और वर्तमान में वह कोई कार्य न कर रहा हो इसका भी प्रमाण करना अनिवार्य है ।
  14. विधवा अगर दूसरा विवाह कर लेती है तो इस योजना का लाभ उन्हें नहीं दिया जाएगा ।
  15. अगर विधवा लाभ मिलने के दौरान दूसरा शादी कर लेती है तो इसे इस योजना से बाहर कर दिया जाएगा यानी शादी होने की स्थिति में इन्हें पेंशन की रकम नहीं दी जाएगी ।
  16. विकलांगता प्रमाण पत्र दिखाना अनिवार्य होगा ₹400 मासिक पेंशन पाने के लिए
  17. इसके साथ ही राज्य सरकार की इस योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी को अपना बैंक अकाउंट की जानकारी भी फॉर्म में देनी होगी ।

नोट :- अगर रोजगार का अन्य साधन उपलब्ध होता है तो राज्य सरकार के द्वारा पेंशन योजना बंद कर दी जाएगी ।

योजना का लाभ लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज ।

वैसे तो इस योजना का लाभ लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज आपको पहले ही पता चल चुके हैं फिर भी नीचे कुछ दस्तावेज अंकित हैं जो आपके पास होने जरूरी हैं ।

  1. 1. आधार कार्ड
  2. 2. पते का प्रमाण पत्र
  3. 3. आय का प्रमाण पत्र
  4. 4. विकलांगता प्रमाण पत्र
  5. 5. आयु प्रमाण पत्र

नोट :- इस योजना के अधिकारिक वेबसाइट आप अपने राज्य के सरकारी पोर्टल से निकाल सकते हैं और इस योजना के लिए अपना आवेदन कर राज्य सरकार के अल्पसंख्यक कल्याण योजना का लाभ ले सकते हैं ।

FAQ मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक कल्याण योजना

मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक कल्याण योजना ?

मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक कल्याण योजना की शुरुआत खासकर मुस्लिम परिवार के अल्पसंख्यक लोगों के लिए की है , इस योजना के अंतर्गत गरीब मुसलमान अल्पसंख्यक परिवारों की बेटियों की शादी, बीमारी शादी में आर्थिक सहायता प्रदान की जानी है । उनको पेंशन से लाभान्वित किया जाएगा ।

मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक कल्याण योजना से कैसे मिलता है लाभ ?

इस योजना के तहत अलग-अलग कार्य और स्थिति के लिए अलग-अलग रकम राज्य सरकार के द्वारा मुहैया कराई जाती हैं । योजना के तहत अल्पसंख्यक वर्ग के मुसलमान परिवार की बेटी की शादी पर ₹25000 दिया जाता है वहीं बीमारी के इलाज के लिए ₹5000 दिए जाते हैं । वहीं अगर वृद्धि, विधवा और दिव्यांग मुसलमानों की बात करें तो इनको भी ₹400 प्रतिमाह पेंशन के तौर पर दिया जाता है । इन सभी योजना को अलग-अलग रूप दिए गए हैं चलिए इन के बारे में विस्तार में जान लेते हैं ।

योजना का लाभ लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज ?

1. आधार कार्ड
2. पते का प्रमाण पत्र
3. आय का प्रमाण पत्र
4. विकलांगता प्रमाण पत्र
5. आयु प्रमाण पत्र

चिकित्सा उपचार हेतु योजना का लाभ कैसे लें ?

बीमारी के लिए जो भी जांच होती है वह सरकारी अस्पताल में ही होनी चाहिए जो कि इस योजना का लाभ गरीबों को दिया जाएगा इस वजह से आय प्रमाण पत्र भी प्रस्तुत करना अनिवार्य है ।
बीमारी कब से और इसका इलाज कहां से चल रहा है इसकी भी जानकारी आपको फॉर्म में भरनी होगी ।
गरीब परिवारों को राज्य सरकार की तरफ से यह मदद इलाज के लिए जांच और दवा खरीदने के लिए दी जाएगी ।
इस योजना का लाभ एक ही परिवार के 2 सदस्य ले सकते हैं


Please share this
  •  
  • 475
  •  
  • 425
  • 240
  •  
    1.1K
    Shares
  •  
    2.6K
    Shares
  •  
  • 742
  • 482
  •  
  • 878
  • 485
  •  
Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

जरुरी सूचना

दोस्तों, हमारी वेबसाइट (sarkariyojnaa.com)सरकार द्वारा चलाई जाने वाली वेबसाइट नहीं है,ना ही किसी सरकारी मंत्रालय से इसका कुछ लेना देना है | यह ब्लॉग किसी व्यक्ति विशेष द्वारा, जो सरकारी योजनाओं में रुचि रखता है और औरों को भी बताना चाहता है, द्वारा चलाया गया है | हमारी पूरी कोशिश रहती की एकदम सटीक जानकारी अपने पाठकों तक पहुंचे जाए लेकिन लाख कोशिशों के बावजूद भी गलती की सम्भावना को नकारा नहीं जा सकता| इस ब्लॉग के हर आर्टिकल में योजना की आधिकारिक वेबसाइट की जानकारी दी जाती है| हमारा सुझाव है कि हमारा लेख पढ़ने के साथ साथ आप आधिकारिक वेबसाइट से भी जरूर जानकारी लीजिये | अगर किसी लेख में कोई त्रुटि लगती है तो आपसे आग्रह है कि हमें जरूर बताएं |

हम अपने ब्लॉग के माध्यम से रजिस्ट्रेशन नहीं करवाते ना ही कभी भी पैसे कि मांग करते हैं | हमारा उद्देश्य है केवल आप तक सही जानकारी पहुँचाना !