मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना 35 लाख किसानों को सीधे मिलेगा लाभ ।

इस पोस्ट में क्या है ?

मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना को सरकार सितंबर 2019 तक शुरू करने के ऊपर काम कर रही है इस योजना के तहत झारखंड के 35 लाख किसानों को सीधे लाभ मिल सकेगा , चलिए जान लेते हैं पूरे योजना के बारे में ।

मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना

सितंबर 2019 तक लागू हो जाएगी योजना

मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना को झारखंड सरकार सितंबर 2019 तक लागू कर सकती है इसके ऊपर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने पूर्व केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा के साथ रांची जिला के मांझी स्थित राजकीय कृत मध्य विद्यालय पांचा परिसर में पौधारोपण करने के बाद इसकी घोषणा की है । उनके अनुसार आने वाले 3 महीने में इस योजना को लागू कर राज्य के 35 लाख किसानों को डीवीटी के माध्यम से सरकार सीधे पैसे देगी ।

किसानों को होगा आर्थिक फायदा ।

झारखंड के किसानों को इस योजना के आ जाने से बहुत बड़ा फायदा मिलेगा , सरकार ने अपना उद्देश्य बताते हुए कहा कि वह नहीं चाहते कि उनके राज्य के किसान खाद,बीज, कीटनाशक इत्यादि की खरीद के लिए किसी के सामने हाथ फैलाए । उन्होंने यह भी बताया कि केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना और हमारे राज्य सरकार की कृषि आशीर्वाद योजना दोनों को मिलाकर हमारे राज्य के किसानों को काफी ज्यादा फायदा दिया जाएगा उनसे मिली जानकारी से हमें यह भी पता चला है कि राज्य सरकार 5 हजार करोड़ो रुपए कृषि आशीर्वाद योजना के ऊपर खर्च करेगी ।

⇒                  मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि पिछले साढे 4 साल से सरकार के प्रति जनता का विश्वास काफी ज्यादा बढ़ा है और सरकार आम जनता के लिए काम भी कर रही है । उन्होंने बताया कि सरकार ने देश के आम जनजीवन में सुधार लाने के लिए किसान, महिला जवान के जीवन को बदलने के लिए ढेर सारे कार्य भी किए हैं । देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश का विकास काफी तेजी से हो रहा है ।

उन्होंने किसानों के हित में बहुत सारी बातें बताई और उन्होंने कहा कि सरकार किसानों की ही है और हमेशा किसानों के लिए रहेगी । सरकार के लिए कृषि समर्थन सबसे ऊपर हैं ।

महिला सशक्तिकरण पर दिया जा रहा है विशेष ध्यान ।

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि राज्य में सरकार के गठन के बाद महिला सशक्तिकरण पर सरकार विशेष जोर दे रही है, उन्होंने बताया कि वर्ष 2014 से अभी तक 1.90 लाख से भी अधिक सखी मंडली बनाई गई है जिन्हें रोजगार के साथ भी जोड़ा गया है । उन्होंने बताया कि झारखंड देश का पहला राज्य है जहां महिलाओं के नाम पर 50 लाख तक की संपत्ति का रजिस्ट्री मात्र ₹1 में हो जाता है और इसका लाभ देश की लाखों महिलाओं ने लिया है ।

सखी मंडल को मजबूत करने के लिए सरकार ने बनाया 500 करोड़ रुपए का बजट

राज्य में गठित सखी मंडलों की आर्थिक विकास के लिए सरकार ने 500 करोड़ रुपए का बजट तैयार किया है इस बड़ी राशि से सखी मंडलों को आर्थिक विकास में गति मिलेगी । राज्य सरकार ने आंगनबाड़ी केंद्रों में ready-to-eat खाद्य की सप्लाई का भी जिम्मा सखी मंडलों को देने का सोचा है । उन्होंने बताया कि झारखंड में महिलाओं और नौजवानों को कौशल विकास के तहत प्रशिक्षण देकर निर्भर बनाया जा रहा है ।

योजना में है किसानों का लाभ ।

झारखंड के किसानों को दोनों ओर से लाभ मिलेगा केंद्र सरकार के द्वारा चलाया जाने वाला किसान सम्मान निधि योजना के तहत ₹6000 सालाना , ₹2000 मोबाइल फोन खरीदने के लिए और अगर मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना आ जाती है तो इसका भी लाभ । यानी कह लीजिए झारखंड के किसानों को हर साल 10 से ₹12000 सरकार आर्थिक सहायता के तौर पर दे सकती है ।

सरकार की योजना हर राज्य सरकार को लानी चाहिए आप अपनी राय हमें कमेंट कर बताएं !

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया है तो आप इसे LIKE और SHARE जरूर करें ऐसी ही जानकारी पाते रहने के लिए आप हमारे इस ब्लॉग को  FOLLOW भी कर सकते हैं।

कार और बाइक चलाने वाले के लिए बदल गये ये 13 नियम ,नहीं जानने पर हो सकती है बड़ी समस्या ।
आधार कार्ड और वोटर आईडी कार्ड को आपस में लिंक करना हुआ अनिवार्य, चुनाव आयोग को आदेश जारी ।
SBI की इस स्कीम में एक बार निवेश करने पर मिलता रहता है हमेशा पैसा , पेंशन की तरह होगा फायदा ।
राशन कार्ड की लिस्ट में नाम नहीं है, इन 2 तरीकों से जोड़ सकते हैं राशन कार्ड की लिस्ट में अपना नाम ।

Leave a Comment