प्रधानमंत्री आवास योजना (शाहरी) के अंतर्गत सीएसएमसी में 4,78,670 मकानों को दे दी गई मंजूरी ।

Please share this
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) में शहर के गरीब लोगों को राहत देने के लिए आवास और शहरी मामले के मंत्रालय ने 4,78,670 मकानों के निर्माण को मंजूरी दे दी है ।

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी)

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) 2019

केंद्रीय स्वीकृत एवं निगरानी समिति (सीएसएमसी ) में 31 जनवरी 2019 को हुई 42वीं बैठक के दौरान यह मंजूरी प्रदान कर दी है । प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के अंतर्गत अब कुल स्वीकृत मकानों की संख्या 72,65,763 हो गई है ।

इन राज्यों में इतने मकानों को मिली है मंजूरी

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के अंतर्गत इन राज्यों में इतने मकानों को स्वीकृति प्रदान कर दी गई है ।

      राज्यों के नाम    स्वीकृत घरों की संखाया
उत्तरप्रदेश91,689 मकानों
तमिलनाडू68,110 मकानों
मधायप्रदेश35,377 मकानों
केरल25,059 मकानों
महाराष्‍ट्र17,817 मकानों
ओडिशा12,290 मकानों
बिहार10,269 मकानों

यह भी पढे , किसान सम्मान निधि योजना क्या है, किन किसानों को मिलेगा इसका लाभ, सरकार की नई योजना 2019

प्रधानमंत्री आवास योजना

आवास योजना भारत सरकार की एक ऐसी योजना है जिसके माध्यम से गरीबो को उनकी कार्य शक्ति के अनुकूल घर प्रदान किए जाएंगे, सरकार ने 9 राज्यों में कुल 305 नगरों एवं कस्बो को चिन्हित किया है जिनमें यह घर बनाए जाएंगे ।

प्रधानमंत्री आवास योजना का मुख्य उद्देश्य वर्ष 2022 तक सभी नागरिकों को घर मुहैया कराना है , सरकार 20 लाख घरों का निर्माण करवाएगी , जिसमें से 18 लाख घर झोपड़ी वाले इलाके में होंगे ,जबकि 2 लाख घर ऐसे होंगे जो शहर के गरीब इलाकों में बनाए जाएंगे ।

प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभ

1. यह निर्णय निर्माण को प्रोत्साहन प्रदान करेगा, आपूर्ति क्षेत्र में भी गतिविधि काफी तेजी से बढ़ेगी, इस पहल से आर्थिक गतिविधियों में बढ़ोतरी होगी और इससे मान में भी बहुत वृद्धि होगी ।

2. इस बढ़ोतरी से अधिक संख्या में एम आई जी उपभोक्ता सब्सिडी का लाभ प्राप्त कर पाएंगे , नोट- यह सुविधा प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के अंतर्गत दी जाती है ।

3. लाभार्थियों की संख्या में वृद्धि होने के साथ ही कॉर्पोरेट एशिया में वृद्धि से निर्माण गतिविधियों में तेजी आएगी , आवाज क्षेत्र को तेजी से आगे बढ़ने में मदद मिलेगी ।

4. निर्माण गतिविधियों में तेजी आने से सीमेंट,स्टिनल , मशीनरी जैसे क्षेत्र में भी मांग बढ़ेगी , शहरी क्षेत्रों में निर्माण गतिविधियों में बढ़ोतरी से कुशल व अकुशल कामगारों के लिए रोजगार के नए अवसर का सृजन भी प्राप्त होगा ।

यह भी पढे , Pradhan Mantri Data Entry Job 2019 , प्रधान मंत्री डाटा एंट्री जॉब 2019,Digitize India Platform .


Please share this
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

जरुरी सूचना

दोस्तों, हमारी वेबसाइट (sarkariyojnaa.com)सरकार द्वारा चलाई जाने वाली वेबसाइट नहीं है,ना ही किसी सरकारी मंत्रालय से इसका कुछ लेना देना है | यह ब्लॉग किसी व्यक्ति विशेष द्वारा, जो सरकारी योजनाओं में रुचि रखता है और औरों को भी बताना चाहता है, द्वारा चलाया गया है | हमारी पूरी कोशिश रहती की एकदम सटीक जानकारी अपने पाठकों तक पहुंचे जाए लेकिन लाख कोशिशों के बावजूद भी गलती की सम्भावना को नकारा नहीं जा सकता| इस ब्लॉग के हर आर्टिकल में योजना की आधिकारिक वेबसाइट की जानकारी दी जाती है| हमारा सुझाव है कि हमारा लेख पढ़ने के साथ साथ आप आधिकारिक वेबसाइट से भी जरूर जानकारी लीजिये | अगर किसी लेख में कोई त्रुटि लगती है तो आपसे आग्रह है कि हमें जरूर बताएं |

हम अपने ब्लॉग के माध्यम से रजिस्ट्रेशन नहीं करवाते ना ही कभी भी पैसे कि मांग करते हैं | हमारा उद्देश्य है केवल आप तक सही जानकारी पहुँचाना !